केजरीवाल के मंत्री इमरान हुसैन बोले- हिन्दुओं के दाह-संस्कार करने से होता है प्रदूषण?

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 4 नवंबर: राजधानी दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के बजाय दिल्ली की केजरीवाल सरकार बयानबाजी करने में ज्यादा व्यस्त रहती हैं। पहले तो खुद सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में प्रदूषण के लिए हरियाणा और पंजाब के किसानों को जिम्मेदार ठहराया था। क्योंकि पराली जलाते हैं।

अब दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन ने दिल्ली में हो रहे प्रदूषण को लेकर सीधा-सीधा हिन्दू धर्म को निशाने पर लेकर बेहूदा बयान दिया है।

केजरीवाल सरकार में पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन ने केंद्र सरकार को खत लिखकर कहा है कि – मरे हुए लोगों की चिताओं को जलाने से दिल्ली में प्रदूषण हो रहे हैं, जिसके कारण लगभग 50 हजार लोगों की जान जा चुकी है।

केंद्र सरकार को भेजे गए खत में इमरान हुसैन ने लिखा है कि – दिल्ली में मौजूद लकड़ी का इस्तेमाल करने वाले शमशान को जल्द से जल्द ग्रीन शमशान में बदलने की जरुरत है, क्योंकि दाह संस्कार में इस्तेमाल होने वाली लकड़ी और दूसरे पदार्थ दिल्ली में प्रदूषण की एक बड़ी वजह हैं।

उल्लेखनीय है की मरे हुए लोगों की चिताएं सिर्फ हिन्दू धर्म में जलायी जाती हैं, मुस्लिमों में दफनाया जाता है, केजरीवाल के मंत्री इमरान हुसैन ने प्रदूषण के बहाने ऐसा बयान देकर सिर्फ हिन्दुओं की आस्था से खिलवाड़ किया है।