तिहाड़ भेजा गया रावण तो स्वघोषित दलित नेता उदित राज बोले- न्यायपालिका जातिवादी है

नई दिल्ली, 22 दिसंबर: भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर रावण को तिहाड़ जेल भेजे जाने बाद कांग्रेस और स्वघोषित दलित नेता उदित राज ने न्यायपालिका को ह जातिवादी ठहरा दिया। बता दें की दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने शनिवार शाम को चंद्रशेखर रावण को 14 दिनों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। रावण पर बिना परमिशन के भीड़ इकठ्ठा करके हिंसा फैलाने का आरोप है।

कांग्रेस नेता उदित राज ने कोर्ट पर निशाना साधते हुए कहा की, न्यायपालिका जातिवादी है,जो सरकार का टूल बनकर काम कर रही है।

उदित राज ने ट्वीट में लिखा- सबूत ना होने के बावजूद चंद्रशेखर को जेल भेजा गया। इससे दो बातें स्पष्ट है पहला ये कि न्यायपालिका जातिवादी है,जो सरकार का टूल बनकर काम कर रही है। दूसरा ये कि सरकार दलित विरोधी भी है। बता दें की इससे पहले भी उदित राज न्यायपालिका पर निशाना साधते रहे हैं।