चिंता न करें, असम की मिट्टी के लोगों के अधिकार कोई नहीं छीन सकता: सीएम सर्बानंद सोनोवाल

LIKE फेसबुक पेज

असम, 20 दिसंबर: नागरिकता संसोधन के विरोध में हो रहे हिंसक प्रदर्शन के बीच असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल का बयान है, सीएम सोनोवाल ने कहा है सीएए से असम के लोगों के अधिकार और असम की भाषा और संस्कृति को कई खतरा नहीं है. उन्होंने कहा कि यह कानून असम के सम्मान को कोई ठेस नहीं पहुंचाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग जनता को गुमराह कर रहे हैं, हमें हमेशा जनता का समर्थन मिला है. सर्बानंद सोनोबाल ने कहा, मैं एक भूमिपुत्र हूं और मैं यहां असम के लोगों के हितों की रक्षा के लिए हूं।

बता दें सीएए का असम में जबरदस्त विरोध हो रहा है. सीएए का विरोध राज्य में हिंसक रूप ले चुका है. सीएए के खिलाफ बड़े पैमाने पर हिंसक विरोध के बाद 11 दिसंबर को गुवाहाटी, डिब्रूगढ़, जोरहाट, तिनसुकिया और असम के कुछ अन्य शहरों में कर्फ्यू लगाया गया था और सेना तैनात की गई थी. असम में लगाया गया कर्फ्यू मंगलवार को हटा लिया गया। सीएए के खिलाफ सबसे पहले असम में ही विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ था।