कट्टरपंथी परेशान, CAB/NRC बिल के बाद घुसपैठियों को भारत में बसाकर इस्लामिक राष्ट्र बना मुश्किल

citizenship-amendment-bill-india-could-not-be-islamic-rashtra-now

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने आज लोकसभा में नागरिक संसोधन विधेयक पेश किया, इस बिल के बाद भारत में असली और नकली नागरिकों की पहचान करके नकली नागरिकों को भारत से बाहर भगाया जाएगा, घुसपैठियों की पहचान करके उन्हें देश से निकाला जाएगा और भारत के असली नागरिकों को उनका हक़ दिलाया जाएगा, इसके अलावा पाकिस्तान, बांग्लादेश और अन्य इस्लामिक देशों में प्रताड़ना के शिकार हिन्दुओं को भारत की नागरिकता प्रदान की जाएगी।

नागरिक संसोधन विधेयक से कट्टरपंथियों की नींद उड़ गयी है। अब तक कट्टरपंथी लोग रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपैठियों को भारत के दूरस्थ स्थानों पर चुपचाप बसाकर भारत में इनकी आबादी बढ़ा रहे थे ताकि चुपचाप भारत को इस्लामिक राष्ट्र बना सकें, पिछले 10 वर्षों में करोड़ों घुसपैठियों को भारत में बसाया गया है लेकिन अब इन्हें भारतीय नागरिकता साबित करनी पड़ेगा वरना इन्हें देश से भागना पड़ेगा।

नागरिक संसोधन विधेयक से कट्टरपंथी बहुत परेशान हैं और अधिकतर लोग बिल का विरोध कर रहे हैं हालाँकि भारत की नागरिकता हासिल कर चुके कट्टरपंथियों को इस बिल से कोई खतरा नहीं है, बस इनका भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने का सपना टूट रहा है।

कांग्रेस ने भी मोदी सरकार के नागरिक संसोधन विधेयक को मुस्लिम विरोध बताकर इसका विरोध किया है, लोकसभा में यह बिल पास हो गया है, अब इसे राज्यसभा में पेश किया जाएगा जहाँ से पास होने के बाद यह कानून का रूप ले लेगा। कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टियां बिल का विरोध कर रही हैं।

loading...