मुस्लिमों के खिलाफ चीन का कठोर कदम, अपने हिसाब से लिखेगा कुरान और बाइबल

नई दिल्ली, 29 दिसंबर: चीन ने मुस्लिमों के खिलाफ कठोर कदम उठाया है, मुस्लिमों के प्रमुख ग्रन्थ कुरान को चीन अपने हिसाब से लिखेगा। वैसे भी चीन हमेशा से ही उइगर मुस्लिमों पर अत्याचार करता रहा है?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के एक प्रमुख अधिकारी ने कहा है कि नए संस्करणों में ऐसी कोई भी बात नहीं होनी चाहिए जो कि कम्युनिस्ट पार्टी के विश्वासों के खिलाफ जाती हो. उन्होंने बताया कि जो भी पैराग्राफ गलत समझे जाएंगे, उनमें या तो बदलाव किया जाएगा या फिर उनका फिर से अनुवाद करवाया जाएगा।

इसका मतलब साफ है कि कुरान और बाइबल की नई किताबों में ऐसा कोई पैराग्राफ नहीं होगा जो कम्युनिस्ट पार्टी के विचारों से मेल नहीं खाता हो. अगर कंटेंट या पैराग्राफ में कोई भी चीज गलत लिखी होगी तो उसमें संशोधन किया जाएगा या तो उसका फिर से अनुवाद किया जाएगा। हालाँकि चीन के इस कठोर कदम पर कोई भी मुस्लिम देश कुछ भी बोलने से डर रहा है।