तेलंगाना पुलिस के काम से भाजपा नेता उमा भारती भी खुश, दूसरे राज्यों को भी ऐसा ही करने की सलाह

bjp-leader-uma-bharti-praised-telangana-police-for-rapist-encounter-disha-case

नई दिल्ली, 6 दिसंबर: हैदराबाद में दिशा गैंगरेप मर्डर केस में चारों आरोपियों के एनकाउंटर पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा नेता उमा भारती ने प्रतिक्रिया दी है, उन्होंने ट्विटर पर लिखा – मैं अभी हिमालय उत्तराखंड में गंगा किनारे हूं, तेलंगाना में महिला वेटनरी डॉक्टर के साथ दुराचरण के बाद हत्या किए जाने की घटना से मैं बहुत दुखी एवं क्षुब्ध थी।

किंतु अभी सवेरे मैंने समाचार सुना कि सीन रिक्रिएट करने के दरम्यान भागने की कोशिश में चारों अपराधी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए। इस सदी के 19 वें साल में महिलाओं को सुरक्षा की गारंटी देने वाली यह सबसे बड़ी घटना है। इस घटना को अंजाम देने वाले सभी पुलिस अधिकारी एवं पुलिसकर्मी अभिनंदन के पात्र हैं। मैं अब विश्वास कर सकती हूं कि दूसरे राज्यों के शासन में बैठे हुए लोग अपराधियों को तत्काल सबक सिखाने के रास्ते निकालेंगे। जिस घर की बेटी निर्दयता की शिकार होकर दुनिया से चली गई उस परिवार का दुःख कभी कम नहीं होगा किंतु उस बहन की आत्मा को शांति मिलेगी तथा भारत की अन्य लड़कियों के मन का भय कुछ कम होगा। जय तेलंगाना पुलिस।

आपको बता दें कि हैदराबाद में डॉ दिशा ( बदला हुआ नाम) गैंगरेप और मर्डर केस के बाद पूरा देश आक्रोश में था, हर क्षेत्र में कैंडल मार्च निकालकर आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी दिए जाने की मांग की जा रही थी, आज रात 3 बजे पुलिस ने सभी 4 आरोपियों का वहीं पर एनकाउंटर कर दिया जहाँ पर आरोपियों ने डॉ दिशा के साथ गैंगरेप किया था और उसे जलाकर ख़त्म कर दिया था। पुलिस के इस एक्शन से पूरा देश खुश है और हैदराबाद पुलिस की तारीफ की जा रही है।

इन चारों आरोपियों पर महिला वेटेरनरी डॉक्टर के साथ रेप का आरोप था. पुलिस का दावा है कि ये सभी आरोपी भागने की कोशिश कर रहे थे और इस दौरान पुलिस की ओर से हुई फायरिंग में सभी आरोपी मारे गए हैं।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह एनकाउंटर आज तड़के 3 बजे हुआ है. मिली जानकारी के मुताबिक अदालत में चार्जशीट दाखिल करने के बाद इन चारों आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई थी ताकि ‘सीन ऑफ क्राइम’ की जांचने के लिए ले गई थी, लेकिन उनमें से एक आरोपी ने पुलिसकर्मी का हथियार छीन कर भागने की कोशिश करने लगा. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अगर यह आरोपी भाग जाते तो बड़ा हंगामा खड़ा हो जाता इसलिए पुलिस के पास दूसरा कोई रास्ता नहीं था और जवाबी फायरिंग में चारो आरोपी मारे गए।

loading...