अमित शाह ने राज्यसभा में भी की ताबड़तोड़ बैटिंग, CAB बिल पर कांग्रेस को करारा जवाब

amit-shah-statement-on-citizenship-amendment-bill-in-rajya-sabha

नई दिल्ली: गृह मंत्री अमित शाह ने नागरिकता संसोधन विधेयक को लेकर राज्यसभा में भी ताबड़तोड़ बैटिंग की और विरोध कर रही कांग्रेस को करारा जवाब दिया, उन्होंने कहा की कांग्रेस इसे एंटी मुस्लिम बिल बता रही है लेकिन इस बिल में ऐसा कुछ भी नहीं है, मोदी सरकार ने पिछले पांच वर्षों में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के करीब 500 मुस्लिमों को नागरिकता प्रदान की है।

अमित शाह ने कहा की वर्तमान विधेयक में गैर मुस्लिम शरणार्थियों को ही नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है लेकिन अगर मुस्लिम शरणार्थी आवेदन करेंगे और अगर उन्हें पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक आधार पर प्रताड़ित किया जाएगा तो हम उन्हें भी भारत की नागरिकता देने पर विचार करेंगे लेकिन क्योंकि तीनों देश इस्लामिक देश हैं इसलिए उन्हें धार्मिक आधार पर प्रताड़ित नहीं किया जा सकता।

अमित शाह ने कहा की पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान इस्लामिक राष्ट्र हैं इसलिए वहां पर हिन्दू, पारसी, बौद्ध, जैन, सिख और ईसाई धर्म के लोगों पर धार्मिक आधार पर अत्याचार होता है इसलिए भारत उन्हें नागरिकता देने की बात कर रहा है।

उन्होंने कहा की भाजपा की सोच कांग्रेस जैसी छोटी नहीं है, ये सिर्फ मुस्लिम धर्म देखते हैं लेकिन हमरे बिल में हिन्दुओं, पारसी, जैन, बौद्ध, सिख, ईसाई धर्म को भी जोड़ा गया है। उन्होंने कांग्रेस को पूरानी बातें याद दिलाकर उसका मुंह बंद कर दिया।