CM योगी का ऐलान- जब्त होगी दंगाइयों की सम्पत्ति, तिलमिलाए अखिलेश यादव, बोले ये तो सरासर..?

लखनऊ, 20 दिसंबर: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नागरिकता कानून के खिलाफ हो रहा विरोध प्रदर्शन उग्र हो गया है. प्रदर्शनकारियों ने सार्वजनिक संपत्तियों को निशाना बनाया है, इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक अहम बैठक बुलाई. बैठक के बाद योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकारी सम्पत्तियों को नुकसान पहुंचाने वालों की ही सम्पत्ति जब्त होगी। सीएम योगी आदित्यनाथ के इस बयान पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इशारों-इशारों में आपत्ति जताई है।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा की – राज्य सरकार पक्षपाती CAA को लेकर जनता में विश्वास पैदा करने के बजाये ‘बदला लेने’ जैसी अलोकतांत्रिक भाषा का प्रयोग कर रही है, जिसकी वजह से आज कई जगह हालात बिगड़े हैं. ठोकतंत्र की सोच वालों को जनता अब और नहीं सहेगी. अखिलेश ने आगे कहा की, आज देश क़ौमी एकता के लिए एक साथ खड़ा है।

बता दें की उत्तर प्रदेश में हो रहे हिंसक विरोध प्रदर्षन पार नारजगी जाहिर करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा की, प्रदर्शन के नाम पर हिंसा की इजाजत नहीं दी जा सकती. हम उपद्रवी दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे. जो भी हिंसा का दोषी होगा उसकी संपत्तियां सीज की जाएंगी. इससे हिंसा में हुई क्षति की भरपाई की जाएगी।

लखनऊ, संभल, कानपूर एवं अन्य कई बड़े शहरों में प्रदर्शनकारियों ने कई सरकारी बसों को जला दिया, पुलिस चौकियों को आग के हवाले कर दिया।

loading...