गरमाता जा रहा है WhatsApp जासूसी मामला, राहुल गांधी ने निकाला राफेल एंगल, बोला मोदी सरकार पर हमला

नई दिल्ली, 1 नवंबर: मैसेजिंग एप व्हाट्सअप के जरिये हुई जासूसी का मामला अब गरमाता जा रहा है, इस मामलें में अब पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी कूद पड़े हैं.

दरअसल इज़रायली स्पाइवेयर ‘पेगासस’ का इस्तेमाल कर भारतीय पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की जासूसी की खबर सामने आयी है, खुद इस बात की जानकारी व्हाट्सअप ने ही दी है, व्हाट्सऐप के अधिकारियों ने बताया की व्हाट्सअप जासूसी का शिकार कई देश के लोग हुए हैं, जिसमें भारत भी शामिल है.

इस खबर आने के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत सरकार व्हाट्सऐप पर भारत के नागरिकों के निजता के उल्लंघन पर चिंतित है. हमने व्हाट्सऐप से ये बताने को कहा है कि किस तरह का उल्लंघन हुआ और वो करोड़ों भारतीयों की निजता की सुरक्षा किस तरह कर रही है. वहीँ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी सरकार पर तंज कसा और इसका ‘राफेल एंगल’ निकाल लिया।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘सरकार ने वॉट्सऐप से पूछा है कि भारतीय नागरिकों की जासूसी के लिए ‘पेगासस’ को किसने खरीदा है, यह ठीक वैसे ही है जैसे मोदी का दसॉल्ट से यह पूछना कि राफेल लड़ाकू विमानों की डील पर किसने पैसे कमाए! फिलहाल अभी यह साफ़ नहीं हो पाया की कौन-कौन लोग जासूसी का शिकार हुए हैं.

Sponsored Articles
loading...