जब तक उद्धव ठाकरे सोनिया गाँधी के आगे झुकेंगे नहीं कांग्रेस का समर्थन मिलना मुश्किल, पढ़ें क्यों

LIKE फेसबुक पेज
udhav-thackeray-must-meet-and-bent-after-sonia-gandhi-for-support

मुंबई; महाराष्ट्र में भाजपा शिवसेना गठबंधन को सरकार बनाने का बहुमत मिला था लेकिन शिवसेना सत्ता कि ज्यादा मलाई खाने के लिए अपना मुख्यमंत्री बनाने के लिए अड़ गयी जिसकी वजह से भाजपा और शिवसेना के बीच रिश्ते बिगड़ गए। अब शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाना चाहती है लेकिन उसे आसानी से कांग्रेस और एनसीपी का समर्थन नहीं मिल रहा है। शिवसेना का समय समाप्त हो गया है, अब सरकार बनाने के लिए एनसीपी को आमंत्रित किया गया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की शिवसेना और कांग्रेस के बीच में एक समय जानी दुश्मनी थी, जब बाला साहेब ठाकरे की चलती थी तो उन्होंने अपने एक बयान में कहा था कि जो सोनिया गाँधी के आगे झुकते हैं वो हिजड़े होते हैं, सोशल मीडिया पर यह वीडियो खूब वायरल भी हो रहा है, देखिये –

इस वीडियो से कांग्रेस के जख्म एक बार फिर से हरे हो गए हैं। बाला साहेब ने एक तरह से सभी कोंग्रेसियों को हिजड़ा बोला था क्योंकि सभी कोंग्रेसी सोनिया गाँधी के सामने सर झुकाते हैं। अब कांग्रेस उसी बात का बदला ले रही है, कांग्रेस ने कल जान बूझकर शिवसेना को समर्थन नहीं दिया और उसका समय समाप्त हो गया। ऐसा लगता है की जब तक शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे खुद 10 जनपथ आकर सोनिया गाँधी के आगे शीश नहीं झुकाएंगे तब तक कांग्रेस शिवसेना को समर्थन नहीं देगी, जब उद्धव ठाकरे सोनिया गाँधी के सामने शीश झुका देंगे तो वह भी उन लोगों कि श्रेणी में शामिल हो जाएंगे जो सोनिया गाँधी के आगे शीश झुकाते हैं और बाला साहेब ठाकरे के बयान उनपर भी लागू होगा।