श्रीलंका राष्ट्रपति चुनाव में भी खिला कमल, पीएम मोदी ने दी जीत की बधाई

LIKE फेसबुक पेज

कोलम्बो, 18 नवम्बर: पडोसी देश श्रीलंका में हुए राष्ट्रपति चुनाव में भी कमल खिला है, राष्ट्रपति चुनाव में एक बौद्ध राष्ट्रवादी की जीत हुई है। रविवार (नवंबर 17, 2019) को जारी किए गए मतगणना परिणाम के अनुसार, लेफ्टिनेंट कर्नल नंदसेना गोटाभया राजपक्षे राष्ट्रपति चुनाव जीत चुके हैं। वो पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे के भाई हैं। गोटाभया राजपक्षे ने सत्तारूढ़ पार्टी के उम्मीदवार सजीत प्रेमदास को बड़े अंतर से हराया।

चुनाव परिणामों के अनुसार, राजपक्षे को 6,310,035 ( 52% ) मत मिले। वहीं दूसरे नंबर पर रहे उनके प्रतिद्वंद्वी सजीत प्रेमदासा को 5,184,552 ( 42% ) मत प्राप्त हुए।

गोटबाया राजपक्षे की जीत के बाद भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें जीत की बधाई दी। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि राष्ट्रपति चुनावों में जीत के लिये आपको बधाई गोटबाया। मैं, हमारे दोनों देशों और नागरिकों के बीच घनिष्ठ तथा भाइचारे वाले संबंधों को और अधिक मजबूत करने, शांति, समृद्धि और क्षेत्र में सुरक्षा के लिये आपके साथ मिलकर काम करने की आशा करता हूं।

बता दें कि – इस चुनाव में गोटाभाया राजपक्षे का चुनाव चिह्न कमल छाप था। श्रीलंका में 70% लोग सिंहला बौद्ध हैं और राजपक्षे उनकी ही भावनाओं पर सवार होकर राष्ट्रपति पद तक पहुँचे हैं, क्योंकि उन्होंने राष्ट्रवाद को चुनावी मुद्दा बनाया था। राष्ट्रवाद का मुद्दा ही उन्हें राष्ट्रपति की कुर्सी तक पहुंचा दिया।