शिवसेना बोली – पैसे लेकर विधायकों के पीछे घूम रही थी बीजेपी, बहुमत खरीदने का प्रयास फेल

LIKE फेसबुक पेज

महाराष्ट्र, 27 नवंबर: 80 घंटे मुख्यमंत्री रहने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने इस्तीफ़ा दे दिया। फडणवीस के इस्तीफे के बाद शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की सरकार बनना लगभग तय हैं, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे 28 नवंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं।

शिवसेना के मुखपत्र सामना में शिवसेना ने अपनी इस कूटनीतिक जीत पर बीजेपी पर जमकर निशाना साधा है. सामना के जरिए बीजेपी पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने कहा कि सभी की शेखी हवा में उड़ गई. आखिरकार देवेंद्र फडणवीस की क्षणिक सरकार विश्वासमत के पहले ही गिर गई..शिवसेना ने कहा, बीजेपी के एजेंट पैसों का बैग लेकर विधायकों के पीछे घूम रहे थे. बहुमत खरीदकर राज करने का प्रयास विफल हो गया।

सामना में लिखा गया है कि जिन अजित पवार के समर्थन से फडणवीस ने सरकार बनाने का दावा किया, उन्होंने पहले ही उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया और अजीत पवार के साथ दो विधायक भी नहीं बचे. इसका विश्वास हो जाने पर देवेंद्र फडणवीस को भी जाना पड़ा. भ्रष्ट और गैरकानूनी तरीके से महाराष्ट्र की गर्दन पर बैठी सरकार सिर्फ 72 घंटों में विदा हो गई।