अयोध्या फैसला: ओवैसी बोले- हमें खैरात की जरूरत नहीं, मस्जिद का सौदा नहीं कर सकते

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 9 नवंबर: अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल उठाए.

हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की तरह हम भी फैसले से सहमत नहीं हैं, सुप्रीम कोर्ट से भी चूक हो सकती है. जिन्होंने बाबरी मस्जिद को गिराया, उन्हें ट्रस्ट बनाकर राम मंदिर बनाने का काम दिया गया है।

ओवैसी ने कहा कि अगर मस्जिद वहां पर रहती तो सुप्रीम कोर्ट क्या फैसला लेती. यह कानून के खिलाफ है. बाबरी मस्जिद नहीं गिरती तो फैसला क्या आता है. हमें हिंदुस्तान की संविधान पर भरोसा है. हम अपने अधिकार के लिए लड़ रहे थे. 5 एकड़ जमीन की खैरात की जरूरत नहीं है. मुस्लिम गरीब हैं, लेकिन मस्जिद बनाने के लिए हम पैसा इकट्ठा कर सकते हैं।

ओवैसी के बयान से ऐसे लगता है की वो भले बार-बार कह रहे हैं की हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन वो सरासर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का विरोध कर रहे हैं।