ख़त्म हुई नौटंकी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दिया इस्तीफा

maharashtra-cm-devendra-fadnavis-resign-after-ajit-pawar

मुंबई: महाराष्ट्र में पिछले 30 घंटे से जारी नौटंकी अब ख़त्म हो गयी है, उप मुख्यमंत्री अजित पवार के बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी अपने पद से इस्तीफ़ा देकर विपक्ष में बैठने की बात की है, आज उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हमें अजित पवार ने सभी एनसीपी विधायकों के समर्थन का भरोसा दिया था लेकिन आज उन्होंने निजी कारणों का हवाला देते हुए अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया, अजित पवार के इस्तीफ़ा देने के बाद हमारे पास बहुमत नहीं है इसलिए हम भी इस्तीफ़ा देकर विपक्ष में बैठेंगे और जनता की समस्याएँ सरकार तक पहुंचाएंगे।

देवेंद्र फडणवीस ने तीन दलों की नयी सरकार को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पांच साल हमने काम किया लेकिन अब हम नई सरकार को काम करना सिखाएंगे। उन्होंने कहा कि हमें लगता है कि तीन दलों की सरकार अपने बोझ तले दब जाएगी और महाराष्ट्र जैसा अग्रणी राज्य पीछे की तरफ जाएगा, हमने पांच साल पूरी मेहनत से जनता के लिए काम किया और इस दौरान हमें महाराष्ट्र की जनता का आशीर्वाद मिला जिसके लिए हम जनता को धन्यवाद देते हैं।

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने भाजपा शिवसेना गठबंधन को सरकार चलाने के लिए बहुमत दिया था लेकिन शिवसेना ने पहले दिन से ही सौदेबाजी शुरू कर दी और कांग्रेस एनसीपी से बातचीत शुरू कर दी। शिवसेना खुद को हिंदुत्ववादी पार्टी बताती है लेकिन अब शिवसेना का हिंदुत्व सोनिया गाँधी के चरणों में नतमस्तक हो गया है और शिवसेना के नेता सोनिया गाँधी की कसमें खा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि तीनों दलों को सरकार बनाने के लिए कई बार राज्यपाल की तरफ से न्योता दिया गया लेकिन वे सरकार बनाने का दावा नहीं पेश कर सके, महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया। अब हमें उम्मीद है कि तीनों दल जल्द से जल्द सरकार बनाऐंगे और महाराष्ट्र की जनता के हित में काम करेंगे, इस दौरान हम विपक्ष में रहकर किसानों, गरीबों और अन्य तबकों की आवाज सरकार तक पहुंचाने का काम करेंगे।

Sponsored Articles
loading...