803 दिन बाद अंबाला सेंट्रल जेल से आजाद हुई बाबा राम रहीम की राजदार हनीप्रीत

LIKE फेसबुक पेज

अम्बाला, 6 नवंबर: बलात्कार के आरोप में सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम की गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत बुधवार को अंबाला की सेंट्रल जेल से रिहा हो गई। हनीप्रीत को पंचकूला हिंसा मामले में गिरफ्तार किया गया था। उनपर देशद्रोह का आरोप था. लेकिन वो भी हट गया। राम रहीम के जेल जाने के बाद पंचकूला में हुई हिंसा के मामले में हनीप्रीत को जेल जाना पड़ा था.

हनीप्रीत की रिहाई से पहले सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे. एक-एक लाख के दो बेल बॉन्ड पर हनीप्रीत को जमानत मिली है. पंचकूला सेक्टर 5 थाने के तहत एफआईआर नंबर 345 के तहत उस पर पंचकूला कोर्ट में सुनवाई चल रही थी.

आपकी जानकारी के लिए डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की सजा के बाद, 25 अगस्त 2017 में हरियाणा के पंचकूला में हुई हिंसा हुई थी जिसके बाद हनीप्रीत को जेल हुई थी। इस हिंसा में 41 लोग मारे गए और 260 से अधिक घायल हो गए थे. हनीप्रीत कुल 803 दिन तक जेल में रही। राम रहीम भी अपनी जमानत के लिए गिड़गिड़ा रहा है लेकिन उसे जमानत नहीं मिल रही है।