दिग्गी राजा को याद आया बाबरी विध्वंस, SC से पूछा- क्या बाबरी मस्जिद तोड़ने वालों को मिलेगी सजा?

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 10 नवंबर: दशकों से चले आ रहे अयोध्या राम मंदिर और बाबरी विवाद के केस का शनिवार को सुप्रीम कोर्ट ने निपटारा कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद तमाम राजनितिक दलों की प्रतिक्रिया आ रही है, लगभग सभी पार्टियां फैसले को स्वीकार कर रही हैं। इसी बीच कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को बाबरी विध्वंस याद आ गई है।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी ट्वीट कर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है, लेकिन उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से एक सवाल भी पूछ लिया है.

दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘राम जन्मभूमि के निर्णय का सभी ने सम्मान किया हम आभारी हैं। कांग्रेस ने हमेशा से यही कहा था हर विवाद का हल संविधान द्वारा स्थापित कानून व नियमों के दायरे में ही खोजना चाहिए. विध्वंस और हिंसा का रास्ता किसी के हित में नहीं है.

दिग्विजय ने अगले ट्वीट में लिखा, माननीय उच्चतम न्यायालय ने रामजन्म भूमि फैसले में बाबरी मस्जिद को तोड़ने के कृत्य को ग़ैर क़ानूनी अपराध माना है. क्या दोषियों को सजा मिल पाएगी? देखते हैं, 27 साल हो गए।

बता दें कि –  अयोध्या में राम मंदिर बनने का रास्ता साफ हो गया है. देश की सबसे बड़ी अदालत ने सबसे बड़े फैसले में अयोध्या की विवादित जमीन पर रामलला विराजमान का हक माना है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के तुरंत बाद कांग्रेस ने कहा की हम फैसले का स्वागत कर रहे हैं और हम तो शुरू से ही राम मंदिर के पक्षधर हैं। हालाँकि यही कांग्रेस पार्टी सत्ता में रहते हुए राम को काल्पनिक बताया था।