बाबर के वंशज ने किया फैसले का स्वागत, कहा- राममंदिर बनवाने के लिए भेंट करूँगा सोने की ईंट

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 10 नवंबर: दशकों से चले आ रहे अयोध्या राम मंदिर और बाबरी विवाद के केस का शनिवार को सुप्रीम कोर्ट ने निपटारा कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के इस ऐतिहासिक फैसले का बाबर के वंशज और मुग़ल बादशाह बहादुर शाह ज़फर के परपोते याकूब हबीबुद्दीन उर्फ़ प्रिंस तुसी ने भी स्वागत किया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि मंदिर निर्माण के लिए वे सोने की ईंट भी ट्रस्ट को देंगे।

बाबर के वंशज प्रिंस तुसी ने फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि जिस तरह से देश में 26 जनवरी और 15 अगस्त को खुशियाँ मनाई जाती है, उसी तरह से आज के दिन को भी राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस फैसले को सभी हिन्दू और मुसलमान भाई को कबूल करना चाहिए।

उन्होंने ने सभी से शांति कायम रखने की अपील करते हुए कहा, जिस तरह से हिन्दू भाई हमारे फंक्शन रमजान में, बकरीद में हमारा साथ देते हैं, उसी तरह से इस फैसले के बाद हम सभी मिलकर राम मंदिर बनाएँ और जहाँ तक हमारे सोने की ईंट की बात थी, वो हम देंगे। बता दें सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले ही तुषि ने राम मंदिर के लिए सोने की ईंट भेंट करने का वादा किया था.