भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत, शी जिनपिंग ने कश्मीर का नहीं किया जिक्र, आतंकवाद बना रहा मुद्दा

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 12 अक्टूबर: चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग दो दिवसीय भारत दौरे पर आये थे, जिनपिंग चेन्नई के महाबलीपुरम में ठहरे, वहीँ पीएम मोदी से मुलाक़ात की और औपचारिक वार्ता हुई.

बता दें कि – पीएम मोदी और शी जिनपिंग की औपचारिक वार्ता भारत के लिए काफी ख़ास रही, क्योंकि लगभग 90 मिनट चली वार्ता में कश्मीर मुद्दे का जिक्र नहीं किया गया…सबसे महत्वपूर्ण बात यह रही कि भारत आतंवाद के मुद्दे को चर्चा का केंद्र बनाने में कामयाब साबित हुआ।

आशंका जताई जा रही थी कि कश्मीर मुद्दे के कारण दोनों नेताओं की बातचीत पटरी से उतर सकती है। लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

विदेश सचिव विजय गोखले ने मोदी-चिनफिंग की मुलाकात  में उठे मुद्दों की प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के बीच हुई अनौपचारिक शिखर वार्ता के दौरान कश्मीर के मुद्दे पर एक बार भी चर्चा नहीं हुई, जबकि आतंक पर विस्तार से बात हुई।

इससे पहले भारत पहुँचने पर जिनपिंग का जोरदार स्वागत किया गया, अपना जबरदस्त स्वागत देखकर जिनपिंग ने कहा, मैं अभिभूत हूँ इतना जबरदस्त स्वागत देखकर।