दरगाह में इबादत करके आये थे कमलेश के हत्यारे, गला काटकर वीडियो वायरल करने का था प्लान, लेकिन..?

LIKE फेसबुक पेज

लखनऊ, 25 अक्टूबर: हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी के हत्यारे अशफाक शेख और मोइनुद्दीन पठान की गिरफ्तारी के बाद से आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं। पूछताछ में पता चला है कि दोनों हत्यारों ने दावा किया है कि वह कमलेश तिवारी का गला काटकर धड़ से अलग करना था। फिर इसे हाथ में लेकर वीडियो बनाकर वायरल करने का प्लान था।

आरोपियों ने बताया कि ऐसा वह इसलिए करना चाहते थे ताकी वह बाकी लोगों को चेतावनी दे सके कोई भी मुस्लिम समुदाय के खिलाफ कोई टिप्पणी ना करे। लेकिन जल्दबाजी और घायल हो जाने के बाद वह तिवारी की हत्या करके चले गए। इसलिए अपने मकसद में कामयाब नहीं हो पाए.

इसके अलावा पूछताछ में आरोपियों ने यह भी बताया कि 18 अक्तूबर की सुबह 10:38 मिनट पर दोनों भगवा कपड़े में खुर्शेदबाग जा रहे थे। रास्ते में दरगाह देखकर इबादत करने के लिए रूक गए थे। फिर उन्होंने एक महिला से कमलेश तिवारी के घर का पता पूछा था। उसके बाद उनके ऑफिस में जाकर घटना को अंजाम दिया।