जम्मू कश्मीर और लद्दाख के केंद्रशासित प्रदेश बनने पर सबसे ज्यादा खुश हुई कश्मीरी लड़कियां

जम्मू कश्मीर/लद्दाख, 31 अक्टूबर: राष्ट्रीय एकता दिवस (सरदार पटेल जंयती, 31अक्टूबर) के अवसर पर भारत के दो नए केंद्र शासित प्रदेश का जन्म हुआ. जम्मू कश्मीर और लद्दाख आज से दो नए केंद्र साशित प्रदेश बन गए…केंद्र साशित प्रदेश होने के बाद सबसे ज्यादा खुश कश्मीरी लडकियां है…क्योंकि इन्हें सबसे ज्यादा फायदा हुआ है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि – अभी तक जम्मू-कश्मीर में महिलाएं सिर्फ शरीयत कानून के दायरे में आती थीं। शादी से लेकर तलाक तक सभी मामले भारतीय संविधान के जरिये सुलझने के बजाय शरीयत से सुलझाए जाते थे। 370 के हटने से उन्हें भी आम भारतीय महिलाओं की तरह ही कानूनी अधिकार मिलेंगे।

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर की अगर कोई महिला कश्मीर के अलावा देश के किसी दूसरे राज्य में शादी करती है तो उसकी जम्मू-कश्मीर की नागरिकता ही खत्म हो जाती थी। लेकिन अनुच्छेद 370 लागू होने पर ये नियम पूरी तरह हट जाएगा। महिलाएं न सिर्फ पुरुषों की बराबरी में कानूनों का लाभ उठा सकेंगी, बल्कि हमेशा राज्य की नागरिक भी बनी रहेंगी। कश्मीरी लड़कियों को अब वो सब फायदा मिलेगा जो पूरे देश की लडकियां/महिलायें उठा रही हैं.