कठुआ रेप-मर्डर केस: गवाहों को पीट-पीटकर झूठा बयान दिलाने वाली SIT दर्ज होगा केस, कोर्ट का आदेश

कठुआ, 23 अक्टूबर: कठुआ रेप और मर्डर केस में अब एक और नया ट्विस्ट आ गया है, जी हाँ, जम्मू कोर्ट ने मामलें की जांच करने वाली स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ( एसआईटी ) पर केस दर्ज करने का आदेश दिया है.

जम्मू की एक अदालत ने पुलिस को एसआईटी (SIT) के उन छह सदस्यों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किए जाने के निर्देश दिए, जिन्होंने 2018 में कठुआ के एक गांव में आठ वर्षीय एक बच्ची के साथ बलात्कार और हत्या मामले की जांच की थी और गवाहों को कथित तौर पर मारपीट कर झूठे बयान देने के लिए मजबूर किया गया.

अदालत ने तत्कालीन एसएसपी आरके जल्ला (अब सेवानिवृत्त), एएसपी पीरजादा नाविद, पुलिस उपाधीक्षकों शतम्बरी शर्मा और निसार हुसैन, पुलिस की अपराध शाखा के उप निरीक्षक उर्फन वानी और केवल किशोर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश दिए.

गौरतलब है कि 2018 के दौरान जम्मू-कश्मीर के कठुआ स्थित एक गांव में 8 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप व हत्या का मामला सामने आया था। आरोप है कि एसआईटी ने गवाहों को कथित तौर पर मारा-पीटा और झूठे बयान देने के लिए मजबूर किया। इसी बयान के आधार पर आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा दी गयी है.