नोबल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी बोले- पकौड़े बेचना कोई बुरी बात नहीं, अच्छा काम है

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 19 अक्टूबर: हाल ही में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले भारतीय मूल के अमेरिकी अर्थशाष्त्री अभिजीत बनर्जी ने कहा है कि – पकौड़े बेंचना कोई बुरी बात नहीं है.

अभिजीत बनर्जी ने एक निजी न्यूज़ चैनल के साथ बातचीत में कहा कि पकौड़ा बेचना बुरी बात नहीं है लेकिन इस धंधे में काफी सारे लोग हैं, जिनकी वजह से उन्हें काफी कम कीमत में इसे बेचना पड़ता है।

दरअसल, जब बनर्जी से पूछा गया कि क्या भारत में श्रम गतिविधि में जाति एक बाहरी बाधा की तरह है? इस पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि सभी लोग हर तरह के काम करना चाहते हैं। एनएसएसओ की रिपोर्ट के हवाले से बताया कि 32 की उम्र सीमा तक बेरोजगारी दर काफी कम है। 30 की उम्र तक पहुंचते-पहुंचते भारतीय नागरिक कुछ न कुछ करना शुरू कर देते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि – एक बार पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू में पकौड़ा बेंचने वाले व्यापार की बात कही थी, हालाँकि तब विपक्षी पार्टियों ने इसका मजाक उड़ाया था, लेकिन अभी तक पकौड़े बेंचने वाले व्यापार को किसी ने गलत नहीं ठहराया है.