फारूक अब्दुल्ला के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हिंदी विरोधी MDMK नेता वाइको, लगाई ये याचिका

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 11 सितम्बर: तमिलनाडु की प्रमुख पार्टी MDMK नेता और प्रखर हिंदी विरोधी वाइको फारूक अब्दुल्ला के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट पहुँच चुके है…गौरतलब है कि फारूक अब्दुल्ला जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जानें के बाद नजरबन्द हैं.

एमडीएमके नेता वाईको ने फारूक अब्दुल्ला के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट में हैबियस कॉर्पस याचिका दाखिल की है. इस याचिकी में वाइको ने कहा है, अब्दुल्ला उनके निमंत्रण पर 15 सितम्बर को होने वाले चेन्नई में पूर्व CM अन्नादुरई के जनमदिवस समारोह में शामिल होने के लिए तैयार हो गए थे. लेकिन जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 को निष्प्रभावी करने के सरकार के फैसले के बाद से उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है.

वाइको ने आगे लिखा है, फारूक अब्दुल्ला को गैर क़ानूनी तरीके से हिरासत में रखा गया है. फारूक अब्दुल्ला से मिलने की इजाजत भी कश्मीर अथॉरिटी से मांगी थी लेकिन वहां से कोई जवाब नहीं आया. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार को निर्देश दे कि वो फारूक अब्दुल्ला को पेश करे ताकि वो चेन्नई में इस समारोह में शामिल हो सके.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि – जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद शांति बरकरार रखने के लिए फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ़्ती सहित कई नेता नजरबन्द हैं.