सरकारी खजाने से नहीं, मंत्री अपनी जेब से भरेंगे टैक्स, CM योगी ने ख़त्म किया 4 दशक पुराना कानून

लखनऊ, 14 सितम्बर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 4 दशक से चले आ रहे एक पुराने कानून को खत्म  कर दिया है.

दरअसल पहले उत्तर प्रदेश सरकार मंत्रियों का सरकारी खजाने से आयकर रिटर्न दाखिल किया करती थी. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया है कि भविष्य में किसी भी कैबिनेट मंत्री या मुख्यमंत्री का आयकर रिटर्न सरकारी खजाने से नहीं भरा जाएगा. मुख्यमंत्री या मंत्री अब खुद अपना आयकर रिटर्न भरेंगे.

ख़बरों की माने तो 18 पूर्व मुख्यमंत्रियों और मंत्रियों का इनकम टैक्स सरकारी खजाने से भरा जाता है. साथ ही सरकार करीब 1,000 मंत्रियों का इनकम टैक्स भी जमा करेगी. ये मुख्यमंत्री समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और बीजेपी समेत कांग्रेस पार्टी से रहे हैं. लेकिन अब ऐसा बिल्कुल नहीं होगा।