नेहरू के बजाय वीर सावरकर पहले प्रधानमंत्री होते तो नहीं होता पाकिस्तान का जन्म: उद्धव ठाकरे

LIKE फेसबुक पेज

मुंबई, 18 सितम्बर: मुंबई में आयोजित ‘सावरकर: इकोज फ्रॉम अ फॉरगाटेन पास्ट’ आत्मकथा के विमोचन के मौके पर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने वीर सावरकर को लेकर बड़ा बयान दिया।

शिवसेना प्रमुख ने कहा की – नेहरू के बजाय अगर वीर सावरकर इस देश के पहले प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान का जन्म भी नहीं होता. उन्होंने वीर सावरकर के लिए देश के सर्वोच्च पुरस्कार भारत रत्न की भी मांग की और कहा कि हमारी सरकार हिंदुत्व की सरकार है.

ठाकरे ने कहा हम गांधी और नेहरू द्वारा किए गए काम से इनकार नहीं करते हैं, यदि वह 14 मिनट भी जेल के भीतर सावरकर की तरह रहे होते. सावरकर 14 साल तक जेल में रहे थे.