अशुभ साबित हुई ISRO में मोदी की मौजूदगी, इसलिए टूट गया विक्रम से सम्पर्क: कुमारस्वामी

नई दिल्ली, 13 सितंबर: कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने प्रधानमंत्री के खिलाफ बेहद बेतुका बयान दिया है.

एचडी कुमारस्वामी ने गुरूवार को मैसूर में कहा कि – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इसरो के केंद्र में होना अपशगुन था। पीएम मोदी यह संदेश देने के लिए आए थे, जैसे वह खुद चंद्रयान 2 को लैंडिंग करवाने वाले थे और संदेश भेजने वाले थे।

उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों ने चंद्रमा मिशन के लिए 10 साल कड़ी मेहनत की थी। साल 2008 में ही कैबिनेट ने इसके लिए मंजूरी दे दी थी। मोदी ऐसे बेंगलुरु आए थे, मानो वो खुद चंद्रयान-2 को उड़ा रहे हों, पीएम का इसरो में कदम रखना वैज्ञानिकों के लिए सही नहीं रहा। इसलिए जमीन से विक्रम लैंडर का संपर्क टूट गया.

बता दें कि – शनिवार सात सितम्बर 2019 को मिशन चन्द्रयान-2 का विक्रम लैंडर चाँद की सतह पर पहुँचने से ठीक 2 किलोमीटर पहले उसका जमीन से यानी इसरो सेंटर से संपर्क टूट गया, फिर भी यह मिशन 95 फीसदी सफल रहा, क्योंकि आर्बिटर अभी चन्द्रमा का चक्कर लगा रहा है.