शादीशुदा युवक ने महिला वकील को शादी का झांसा देकर कई बार बनाया यौन सम्बन्ध. रेप का मामला दर्ज

LIKE फेसबुक पेज
palwal-police-lodge-fir-78-rape-and-blackmailing-women-lawyer
Demo Image

फरीदाबाद: पलवल में रेप और धोखाधडी का मामला दर्ज हुआ है. शिकायत के अनुसार पलवल के एक शादीशुदा युवक ने फरीदाबाद की एक महिला वकील को शादी का झांसा देकर उसके साथ कई बार शारीरिक सम्बन्ध बनाये. महिला वकील को जब पता चला कि आरोपी पहले से शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं और उसके साथ धोखाधडी हो रही है तो उसनें पलवल पुलिस में रेप का मामला दर्ज करवा दिया. पीडिता महिला वकील ने आरोपी पर – शादी का झांसा देकर शारीरिक शोषण किये जाने, ब्लैकमेल करने, कई प्रकार की मानसिक और शारीरिक पीड़ा देने, जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है. इस मामले में आरोपी के अलावा उसके माता-पिता पर भी शाजिश का आरोप लगाया गया है.

पलवल पुलिस ने IPC की धारा – 120B, 354, 376, 379B, 506 के तहत मुकदमा नंबर 078, Date. 18.9.2019 दर्ज करके कानूनी कार्यवाही शुरू कर दी है. महिला पुलिस ने पीडिता को न्याय दिलाने का भरोसा दिया है.

पीडिता ने अपनी शिकायत में लिखा है – मैं फरीदाबाद की रहने वाली हूँ, मैं पिछले कई वर्षों से हरे कृष्णा हरे रामा कुसलीपुर मंदिर पलवल जाती रहती हूँ और मंदिर की भक्त हूँ, लगभग 6 महीनें पहले मेरी मुलाक़ात अक्षय कौशिक नामक व्यक्ति से उपरोक्त मंदिर में हुई थी, उसके बाद अक्षय कौशिक ने मुझसे फेसबुक के जरिये संपर्क किया और मेरी और अक्षय कौशिक की फेसबुक के माध्यम से ही बातचीत होने लगी.

अक्षय कौशिक ने मुझसे बातचीत के दौरान शादी का प्रपोजल दिया लेकिन मैं उसे बार बार मना करती रही. प्रत्येक वर्ष की तरह मैं इस बार भी गुरु पूर्णिमा में गुरु महाराज के यहाँ उधमपुर जम्मू स्थित इस्कान मंदिर गयी. मैं दिनांक 13.5.2019 को बाकी सभी भक्तों के साथ उधमपुर इस्कान मंदिर गयी इसके पश्चात हर बार की तरह गुरु पूर्णिमा का उत्सव ख़त्म होने के बाद माता वैष्णों देवी के दर्शन के लिए भी जाती हूँ. इसी दौरान अक्षय कौशिक ने मुझसे कहा कि मैं भी कटरा आ रहा हूँ, तुम मुझे कटरा में ही मिल जाना वहां से मैं भी तुम्हारे साथ माता-वैष्णों देवी चलूँगा और हम वहीँ माता को साक्षी मानकर शादी कर लेंगे, मैं उसकी बातों में आ गयी. 18.5.2019 को अक्षय कौशिक कटरा पहुँच गया उसके बाद हम दोनों माता वैष्णों देवी दर्शन के लिए गए. अगली सुबह जब हमनें माता वैष्णों देवी के दर्शन किये तो इसनें शादी का झांसा देकर वहीँ माता को साक्षी मानकर मेरी मांग भरी तथा मुझे अपनी धर्मपत्नी स्वीकार किया. इसके बाद हम वापस इन्द्रप्रस्थ होटल पहुँच गए. इसके बाद इसनें मेरी मर्जी के विरूद्ध मेरे साथ जबरदस्ती से यह कहकर कि अब तो हम पति-पत्नी हैं, मेरे साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाए. मैंने इससे कहा था कि जब तक हम शादी रजिस्टर्ड ना करा लें, तक तक मैं तुम्हारे साथ कोई सम्बन्ध नहीं बनाउंगी लेकिन इसके बावजूद भी इसने मेरे साथ अश्लील हरकतें करते हुए मुझे बहला फुसलाकर मेरी मर्जी के खिलाफ मेरा शारीरिक शोषण किया.

इसके बाद हम दोनों दिनांक 21.5.2019 को सुबह मालवा एक्सप्रेस से दिल्ली आ गए. इसके बाद अक्षय कौशिक ने कहा कि अभी हम अपने घर चले जाते हैं और अपने माता-पिता को भी मना लेते हैं, और अगर मेरे माता-पिता नहीं माने तो मैं फिर भी तुमसे शादी रजिस्टर्ड करके तुम्हें अपने साथ बतौर अपनी पत्नी रखूंगा.

दिनांक 16.7.2019 को शाम को अक्षय कौशिक एक सोची समझी साजिश के तहत मुझसे मिलने मेरे घर आया और मैंने इससे अपने शादी रजिस्टर्ड कराने के लिए कहा तो इतनी सी बात पर ये तैश में आ गया और मेरे साथ गाली गलौज करने लगा और मेरे मोबाइल को मुझसे जबरदस्ती छीनकर ले गया, क्योंकि मेरे फोन में अक्षय से मेरी हुई बातचीत, व्हाट्सअप मैसेज फेसबुक इत्यादि के पुख्ता सबूत मौजूद थे.

दिनांक 21.7.2019 को आरोपी ने दिनांक 16.7.2019 को गाली गलौज देने और फोन लूटने की बाबत माफी मांगते हुए कहा कि मुझसे उस दिन गलती हो गयी लेकिन आज तुम सेक्टर-12 कोर्ट फरीदाबाद आ जाओ, मैंने किसी वकील साहब से बात कर ली है. शादी रजिस्टर्ड कराएंगे. मैं उसके कहने के अनुसार कोर्ट पहुँच गयी. कोर्ट में पहुँचने के बाद इसनें मुझसे कहा कि मैं तुम्हे अपने पास ही रखूंगा और वापस नहीं जाने दूंगा. इस प्रकार कहकर ये मुझे हमारी गुरु बहन के पास मेरठ छोड़ आया और कहा कि कल कोर्ट खुल जाएगा, मैं कागजात तैयार करके तुम्हें लेने के लिए आ जाऊँगा.

इसके बाद दिनांक 23.07.2019 को दोपहर मेरी गुरु बहन के पास मेरठ लेने के लिए पहुँच गया और वापिस आते समय रात्री हो गयी, रात्री को इसनें मुझे पटवारी कॉलोनी धौलागढ़ में अनी फैक्ट्री में ले गया और शादी रजिस्टर कराने की बात करके फिर से मेरे साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाए.

उसके बाद दिनांक 24.07.2019 को शादी रजिस्टर्ड कराने के नाम पर मुझे होटल पॉश आगरा चौक पलवल में ले गया और होटल में भी मेरे साथ शारीरिक सबंध बनाए. शारीरिक सम्बन्ध बनाने के बाद यह कहकर वहां से चला आया कि मैं शादी रजिस्टर्ड करने के कागजात तैयार करा रहा हूँ तक तक तुम यहीं होटल में रुकना. मैं होटल में ही उसका इन्तजार करती रही लेकिन दिनांक 25.7.2019 को भी दोषी होटल वापस नहीं आया. मैं उसे लगातार फोन करती रही, कई बार फोन करने के बाद एक बार जब फोन लगा तो इसनें मुझसे कहा कि मैं नहीं आ रहा, तुझे जो करना है कर ले. इसके बाद मैं अपनी गुरु बहन के पास वापिस मेरठ चली गयी.

इसके बाद दिनांक 26.07.2019 को आरोपी का फोन आया, इसनें अपने किये पर माफी मांगी और माफी मांगते हुए कहा कि मैंने अपने माता पिता को राजी कर लिया है, वो भी तुम्हारे से मेरी शादी रजिस्टर करने को राजी हो गए हैं. तुम अब किसी प्रकार की चिंता मत करना और ना ही कोई कानूनी कार्यवाही करना. इसनें मुझे अपनी मीठी मीठी बातों में फंसा लिया और मैंने भी इसकी बातों पर भरोसा कर लिया, मेरे पास और कोई चारा भी नहीं था. इसनें मुझे अपनी बातों में फंसा लिया था और मैं अपना घर छोड़कर इसके साथ आ गयी थी, इसने मुझे अपने घर से बाहर करवा दिया था.

उसके बाद हमारा लगातार फोन पर संपर्क रहा, मैंने इससे कहा कि अब मेरे साथ कोई धोखाधड़ी मत करना, मैं दिनांक 30.7.2019 को फरीदाबाद वापस आ गयी. आरोपी मुझे फरीदाबाद लेने आ गया. मुझे बोला कि अपने माता-पिता से मिलवाना है, ये मुझे अपनी फैक्ट्री पर ले गया जहाँ पर इसके माता पिता ओम प्रकाश एवं स्नेहलता पहले से ही हम मशवरा और साजबाज होकर एक सोची समझी साजिश के तहत मौजूद थे. जिन्होंने मेरे फैक्ट्री पर पहुँचते ही मुझे भला बुरा कहा, मुझे डराया धमकाया और मुझे जान से मारने की धमकी दी एवं तरह तरह के नजयाज दबाव बनाए और जबरदस्ती एक कोरे कागज़ पर हस्ताक्षर कराये और एक कोरा कागज़ देकर कहा कि इस पर लिखकर दे कि तेरा और मेरे बेटे अक्षय के बीच आज से पहले कोई सम्बन्ध नहीं था और ना ही भविष्य में तू इसके साथ कोई सम्बन्ध रखेगी और ना ही इससे संपर्क करेगी. इसके बाद इसके माता-पिता ने बताया कि मेरा बेटा तो पहले से ही शादीशुदा है और इसके दो बच्चे भी हैं. रात को उन्होंने मुझे फैक्ट्री पर ही रखा.

अगले दिन दिनांक 31.7.2019 को मैं चलने लगी तो मैंने इनसे कहा – तुमने मिलकर मुझसे धोखा किया है और मेरे घर से बेघर कर दिया है. अब मैं कहाँ जाऊंगी, अब मैं तुम सबके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराउंगी. दोषी गण ने एक नई साजिश के तहत कहा तुम शिकायत मत करना, तुम दोनों कैम्प कॉलोनी में फ्लैट देख लो. वहीं पर दोनों साथ रहना. इसके बाद अक्षय ने अपने दोस्त वरुण जो कि कैम्प कॉलोनी रहता है उसके वहां ले गया और कहा कि आज इसी के यहाँ रुकते हैं. कल कहीं फ्लैट देख लेंगे. यह कहकर अपने दोस्त तरुण के घर पर छोड़कर चला गया कि फ्लैट ढूंढकर आता हूँ, इसके बाद रात्री करीब 11 बजे अक्षय का फोन आया कि तुम वहाँ से चली जाओ, मैं कोई शादी नहीं करने वाला हूँ. मैंने तुम्हारी फोटो तथा अश्लील तस्वीरें ले रखी हैं. अगर तुमने किसी से शिकायत की तो मैं तुम्हें बदनाम कर दूंगा और फेसबुक पर डाल दूंगा. यह कहकर वो मुझे डराने धमकाने लगा एवं ब्लैकमेल करने लगा और जान से मारने की धमकी देने लगा.

दिनांक 21.8.2019 को मैं महिला थाना फरीदाबाद सेक्टर-16 में शिकायत करने गयी थी, जैसे ही मैं गेट पर पहुंची तो इसका फोन आया और तरह तरह की धमकियाँ देने लगा और कहा कि अगर तुमने शिकायत की तो तुम्हारी अश्लील फोटो वायरल कर दूंगा और इस कदर बदनाम करूंगा कि किसी को मुंह दिखाने काबिल भी नहीं रहोगी, मैं डर गयी और बिना किसी से शिकायत किये वापस आ गयी.

दिनांक 11.09.2019 को अक्षय का पिता ओमप्रकाश मेरे चैम्बर फरीदाबाद कोर्ट आया और माफी मांगने लगा, और कहा कि कुछ समय दो, किसी प्रकार की शिकायत दर्ज मत करना, मैं सब कुछ ठीक कर दूंगा, इसके बाद ना तो दोषीगण का फोन आया और ना ही किसी प्रकार की सूचना आयी है.

इस मामले में आरोपी अक्षय और उसके माता पिता के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग की गयी है. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.