गृह मंत्रालय ने दी हरी झंडी, फिर खुलेगी 1984 सिख दंगे की फाइल, बढ़ेंगी कमलनाथ की मुश्किलें

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 10 सितम्बर: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ की एक बार फिर से मुश्किलें बढ़ सकती हैं, जी हाँ, क्योंकि गृह मंत्रालय ने 1984 में हुए सिख नरसंहार की फ़ाइल फिर से खोलनें की इजाजत दे दी है.

गृह मंत्रालय से हरी खण्डी मिलने के बाद दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने मीडिया को बताया कि FIR 601/84 फिर से खुलेगी और इसमें कमलनाथ का भी नाम शामिल है। इस दौरान सिरसा ने कहा कि अगर कमलनाथ को कांग्रेस से नहीं निकाला जाता है, तो सोनिया गांधी का सिख विरोधी चेहरा उजागर होगा।

बता दें कि जून महीने में मनजिंदर सिंह सिरसा ने केंद्रीय गृहमंत्रालय द्वारा 1984 सिख विरोधी दंगों के लिए बनाई गई एसआईटी के चेयरमैन से मुलाकात की थी। सिरसा ने कमलनाथ के भूमिका की जांच की मांग उठाई थी।

प्रत्यक्षदर्शियों ने आरोप लगाए थे कि कमलनाथ ने भीड़ को दिल्ली के रकाबगंज गुरुद्वारे की ओर ले गए थे और उनकी मौजूदगी में दो सिखों की हत्या की गई। इसलिए फाइल खुलने से कमलनाथ की मुश्किलें बढ़ना तय हैं.