इस्लाम के खिलाफ था अनुच्छेद 35A, हट गया बहुत अच्छा हुआ: शाहनवाज हुसैन

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 20 सितम्बर: पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता शाहनवाज़ हुसैन ने कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने का विरोध करते हुए कहा कि अनुच्छेद 35 ए इस्लाम के खिलाफ था.

पूर्वी चंपारण जिला मुख्यालय मोतिहारी में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शाहनवाज हुसैन ने आरोप लगाया कि निरस्त संवैधानिक प्रावधान ने जम्मू-कश्मीर के बाहर के किसी व्यक्ति से शादी करने की स्थिति में पैतृक संपत्ति पर महिला के अधिकार को छीन लिया था, जो शरिया के खिलाफ था।

उन्होंने कहा कि जो मुस्लिम बुद्धिजीवी जम्मू-कश्मीर को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार की कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं और इसे हिंदू बनाम मुस्लिम मुद्दा बना रहे हैं, उनसे एक सवाल है कि क्या उन्हें लगता है कि अनुच्छेद 35 ए इस्लाम के शरिया कानून के अनुसार था. शरिया कानून के अनुसार एक बच्ची को उसके माता-पिता से विरासत में मिली संपत्ति पर उसके अधिकारों से वंचित नहीं किया जा सकता है। लेकिन अनुच्छेद 35 ए ने उसे शर्तिया बना दिया था. इसलिए मैं कहता हूँ यह इस्लाम के खिलाफ था.