रविश को मैग्सेसे की बधाई देने वाले लोग प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न की बधाई देना भूल गए

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 9 अगस्त: गुरूवार को पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस नेता प्रणव मुखर्जी को देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से नवाजा गया, प्रणव मुखर्जी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भारत रत्न दिया। लेकिन प्रणब को उतनी बधाई नहीं मिली। जितनी रवीश कुमार को रैमन मैग्सेसे पुरस्कार मिलने पर मिली थी.

मालूम हो कि – अभी हाल ही में NDTV के रवीश कुमार को रेमैन मैग्सेसे पुरस्कार मिला था तो रवीश को बधाई देने वालों का तांता लग गया, लेकिन प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न मिला तो उनको बधाई देने वालों का तांता नहीं लगा.

प्रणब मुखर्जी को क्यों नहीं मिली रवीश से ज्यादा बधाई।

दरअसल अपना पूरा जीवन कांग्रेस को समर्पित करने वाले प्रणव मुखर्जी अपने राजनीतिक कैरियर के आखिरी पड़ाव में संघ की शाखा में चले गए थे, तबसे प्रणव मुखर्जी फर्जी सेकुलरों, लिबरलों और कांग्रेसियों के निशाने पर आ गए, इसलिए प्रणब भारत रत्न पाने के बावजूद बहुत ज्यादा बधाई नहीं पाए और रवीश कुमार खूब बधाई इसलिए पाए, क्योंकि वो NDTV के स्टूडियो में बैठकर सेना का अपमान करते हैं, सेना को शहीद बताने के बजाय मृत्यु बताते हैं, इसलिए वो फर्जी सेकुलरों और लिबरलों के चहेते हैं.

यहाँ तक कि – प्रणव मुखर्जी को भारत रत्न देने के कार्यक्रम में कांग्रेस नेता सोनिया गांधी, राहुल गांधी और पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह को स्पेशल आमंत्रण दिया गया था लेकिन ये तीनों इस मौके पर नहीं पहुंचे। हालांकि कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी,अहमद पटेल, आनंद शर्मा, शशि थरूर जैसे नेता जरूर मौजूद थे।