लाल किले पर बुलेटप्रूफ सीसों के अंदर से भाषण देते थे मनमोहन, मोदी देते हैं खुले आसमान के नीचे

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 16 अगस्त: कल यानी 15 अगस्त को भारत ने धूमधाम से अपना 73वां स्वतंत्रता दिवस मनाया, इस दौरान बिगत वर्षों की भाँति इस वर्ष भी प्रधानमंत्री का भाषण दिल्ली के लाल किले पर हुआ और पीएम मोदी ने 92 मिनट का भाषण दिया।

आपको बता दें कि – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले पर लगातार छठी बार भाषण दिया और खुले आसमान के नीचे दिया, जबकि इससे पहले के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने लाल किले की प्राचीर से 10 बार भाषण दिया था और दसों बार बुलेट प्रूफ सीसों के अंदर से खड़े होकर।

मतलब उस समय के तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को तो अपनी जान की चिंता थी, लेकिन खुले आसमान के नीचे बैठी जनता की नहीं, जबकि पीएम मोदी खुले आसमान के नीचे भाषण देते हैं और जनता भी खुले आसमान के नीचे सुनती है. मोदी अपने लिए बुलेट प्रूफ सीसों का इंतजाम नहीं करवाते हैं, पीएम मोदी की इसी खूबी के चलते सोशल मीडिया पर जमकर उनकी तारीफ हो रही है.