हरियाणा का खूंखार गैंगस्टर कौशल देश छोड़कर हो रहा था फरार, दिल्ली एयरपोर्ट पर गिरफ्तार

haryana-gangster-kaushal-arrested-on-delhi-airport-faridabad-police

फरीदाबाद: कहते हैं कि खोदा पहाड़ और निकला चुहिया, ऐसी ही घटना फरीदाबाद में हुई है, गैंगस्टर कौशल को हरियाणा का दाउद बताया जा रहा था, यह भी कहा जा रहा था कि कौशल बड़ा डॉन बन गया है, दुबई से फरीदाबाद हरियाणा में हुक्म चला रहा है, उसके बाद कहा गया कि फरीदाबाद पुलिस के कुछ अफसरों ने दुबई में जाकर कौशल के लिए फील्डिंग की और उसी जाल में कौशल फंस गया, ऐसा कुछ भी नहीं है, कौशल की गिरफ्तारी में हरियाणा और फरीदाबाद पुलिस का कोई रोल नहीं है.

कौशल को दिल्ली एयरपोर्ट के अधिकारियों ने पासपोर्ट की चेकिंग के दौरान पकड़ लिया. उसके बाद हरियाणा पुलिस को सूचना दी गयी, सूचना मिलने के बाद STF की टीम ने कौशल को एयरपोर्ट से हिरासत में लिया, कल उसे गुरुग्राम कोर्ट में पेश किया गया था, आज उसे फरीदाबाद लाया गया, यहाँ पर उसे रिमांड में लेकर आगे की कार्यवाही की जाएगी.

फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर केके राव ने आज कौशल की गिरफ्तारी पर बड़ा खुलासा किया. उन्होंने साफ़ साफ़ बता दिया कि कौशल को एयरपोर्ट से गिरफ्तार करने का क्रेडिट STF टीम को जाता है, फरीदाबाद पुलिस के किसी भी इंस्पेक्टर का इसमें कोई रोल नहीं है. उन्होंने इतना जरूर कहा कि कौशल की गिरफ्तारी का क्रेडिट पूरी हरियाणा पुलिस को जाता है.

उन्होंने विकास मर्डर केस पर भी बड़ा खुलासा किया. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने विकास चौधरी को अपराधी बताया था और उनके कौशल से कुछ व्यापारिक रिश्ते के संकेत दिए थे, ऐसा कुछ भी नहीं था. कौशल ने करीब एक-डेढ़ करोड़ रुपये की फिरौती के लिए विकास चौधरी की हत्या करवाई थी, विकास चौधरी ने कौशल को रंगदारी देने से इनकार कर दिया था. अगर विकास चौधरी कौशल को रंगदारी दे देते तो उनकी ह्त्या ना होती.

सीपी ने बताया कि एयरपोर्ट पर तलाशी के दौरान कौशल के पास से दर्जनों मोबाइल फोन, दुबई की करेंसी जिसकी कीमत करीब 14 लाख रुपये है, मिली. एक नकली पासपोर्ट भी मिला. कौशल स्पेन जाने की तैयारी कर रहा था, अगर एयरपोर्ट के अधिकारियों ने उसकी तलाशी ना ली होती तो शायद कौशल भारत छोड़कर भाग जाता.

सीपी के खुलासे के बाद फरीदाबाद के जो भी लोग यह सोच रहे थे कि कौशल की गिरफ्तारी में यही के कुछ इंस्पेक्टर की मेहनत है, उन्हें निराशा हुई है. अब तो लोग यही सोचेंगे कि फरीदाबाद पुलिस को बैठे बिठाये शिकार मिल गया है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर की बात सुनकर आज फरीदाबाद के सभी पत्रकार हैरान थे, किसी को समझ नहीं आ रहा था कि कुछ दिन पहले कौशल को दुबई से गिरफ्तार करने की खबर आयी थी वो गलत कैसे हो सकती है, पत्रकारों ने कमिश्नर के सामने अपना संदेह प्रकट किया, उनकी थ्योरी पर शक जाहिर किया लेकिन कमिश्नर साहब अपने बयान पर कायम रहे और उन्होंने कौशल की गिरफ्तारी में फरीदाबाद पुलिस के कुछ अफसरों को क्रेडिट देने से साफ़ साफ़ इनकार कर दिया. उन्होंने यह भी नहीं बताया कि कौशल दुबई में रहता था या नहीं, ये भी नहीं बता पाए कि कौशल के पास से दुबई की करेंसी कैसे मिली.

आगे कौशल के खिलाफ जो भी कार्यवाही होगी उसका अपडेट दिया जाएगा.

loading...