मुसलमान ने गैर-हलाल खाने के लिए शिकायत की तब जोमैटो नहीं बोला- “Food has no Religion”

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 1 अगस्त: फूड डिलेवरी ऐप जोमैटो अपने फर्जी सेकुलरिज्म के कारण चर्चा में है, दरअसल मामला यह है कि – पंडित अमित शुक्ला नाम के हिन्दू व्यक्ति ने जोमैटो के जरिए खाना ऑर्डर किया था.

जब उन्होंने देखा कि डिलीवरी ब्वॉय हिंदू नहीं है तो उन्होंने फोन कर कहा कि वह डिलीवरी ब्वॉय को बदले, नहीं तो उन्हें ऑर्डर कैंसिल करना पड़ेगा. इसपर जोमैटो ने डिलीवरी ब्वॉय बदलने से इनकार कर दिया साथ ही ऑर्डर कैंसिल करने और रिफंड करने से भी मना कर दिया गया. पंडित शुक्ला ने उनसे कहा कि आप मुझे डिलीवरी लेने के लिए मजबूर नहीं कर सकते हैं.

इस पूरी घटना के बारे में उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी जिसपर जोमैटो ने रिट्वीट कर कहा कि, खाने का कोई धर्म नहीं होता है और नैतिक ज्ञान देना शुरू कर दिया।

वैसे जोमैटो का यह दोगलापन उस समय सामने आ गया जब एक मुसलमान ने गैर-हलाल खाने के लिए शिकायत की, तो जोमैटो ने उसकी बातों का संज्ञान लिया और उसकी हर बात मानी, तब जोमैटो ने ट्वीट करके यह नहीं कहा – Food Has No Religion जबकि हलाल गैर-हलाल का मुद्दा भी उतना ही मज़हब और आस्था का विषय है, जितना खाना पहुँचाने वाले का हिन्दू होना या न होना।