अमित शाह के गृहमंत्री बनते ही भीगी बिल्ली बनें कश्मीरी अलगाववादी, मीरवाइज ने दिया ये बयान

LIKE फेसबुक पेज

नई दिल्ली, 1 जून: मोदी सरकार-2 में अमित शाह के गृहमंत्री बनते ही कश्मीरी अलगाववादियों के सुर बदल गए हैं..शाह के गृहमंत्री बनने के बाद हुर्रियत कांफ्रेंस के अध्यक्ष और अलगाववादी मीरवाइज उमर फारुक ने बड़ा बयान दिया है.

हुर्रियत कांफ्रेंस के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक ने कहा कि प्रचंड बहुमत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कश्मीर मुद्दे के समाधान में निर्णायक भूमिका निभाने का मौका दिया है।

अलगाववादी नेता ने कहा, ‘भारत के लोगों ने मोदी और उनकी पार्टी को सत्ता में वापस लाने के लिए भारी मतदान किया। यह जनादेश मोदी को काफी समय से लंबित कश्मीर समस्या के समाधान में निर्णायक भूमिका निभाने का मौका देता है।

वैसे अब ये अलगाववादी जो इतना केंद्र सरकार का गुणगान कर रहे हैं, पहले इसी सरकार को कुछ नहीं समझते थे..लेकिन अमित शाह के गृहमंत्री बनते ही ये सब अब बदल गए हैं.

गृहमंत्री बनने के बाद कश्मीर सबसे बड़ी चुनौती होगी, क्योंकि कश्मीर मुद्दे की गंभीरता और वहां की स्थिति किसी से छिपी नहीं है और वहां अलगाववादी नेता केंद्र सरकार और सेना के कितने खिलाफ रहते हैं ये साफ है।