मोदी सुनामी में यादव परिवार के किले ध्वस्त हो गए, मुलायम की बहू, भतीजा, पोता हार गए

LIKE फेसबुक पेज
mulayam-yadav-faimily-loses-loksabha-election

उत्तर प्रदेश, 24 मई: लोकसभा चुनाव 2019 में मोदी सुनामी के सामने उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन को वो सफलता नहीं मिल सकी जिसकी उम्मीद थी. 50 से ज्यादा सीटें जीतने का ख्वाब धराशायी हो गया.

इसके साथ ही यादवलैंड कही जाने वाली लोकसभा सीटें कन्नौज, फिरोजाबाद, एटा, इटावा और बदायूं में समाजवादी पार्टी को बीजेपी के हाथों करारी हार मिली. इस बार भी सपा महज पांच सीटें ही जीत सकी, जबकि यादव परिवार के तीन सदस्यों को हार का सामना करना पड़ा. इनमें सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव, दो चचेरे भाई अक्षय यादव और धर्मेंद्र यादव भी शामिल हैं. मतलब सीधा-सीधा कहें तो मुलायम यादव की बहू, भतीजा, पोता हार गए.

वैसे सपा-बसपा गठबंधन का मोदी का तो कुछ नहीं कर पाया, लेकिन मायावती ने बाजी मार ली, सबसे ज्यादा फायदा बसपा को हुआ. उसका एक भी सांसद नहीं था, लेकिन उसे 10 सीटें मिली.