चुनाव आयोग ने समय से पहले लगाई प्रचार पर रोक तो गुस्से से तिलमिला उठी ममता बनर्जी

LIKE फेसबुक पेज
mamata-banerjee-gave-statement-on-election-commission-order

नई दिल्ली, 15 मई: पश्चिम बंगाल में जारी चुनावी हिंसा के मद्देनजर राज्य की नौ लोकसभा सीटों पर आगामी 19 मई को होने वाले मतदान के लिए निर्धारित अवधि से एक दिन पहले ही प्रचार अभियान प्रतिबंधित करने के चुनाव आयोग के फैसले पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तिलमिला गयी हैं.

ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह फैसला बीजेपी के निर्देश पर लिया है, ममता ने कहा, कोलकाता में अमित शाह ने दंगा कराया, शाह पर कार्रवाई होनी चाहिए. मोदी जी मुझसे और बंगाल से डरते हैं.

ममता बनर्जी ने कहा, “पीएम मोदी मुझसे और पश्चिम बंगाल से डर गए हैं. प्रचार पर रोक का फैसला चुनाव आयोग का नहीं बल्कि पीएम मोदी का है. रोड शो में हिंसा के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जिम्मेदार हैं. कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष ने हंगामा करवाया.