नहीं है जो मुहम्मद का, हमारा हो नहीं सकता कहनें वाले कांग्रेसी बाबा प्रमोद कृष्णम हारे

LIKE फेसबुक पेज
congress-candidate-pramod-krishnam-lost-from-lucknow

लखनऊ, 24 मई: केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक बार फिर लखनऊ से जीतकर अपनीं बादशाहत बरक़रार रखी है, राजनाथ के सामनें महागठबंधन की पूनम सिन्हा और कांग्रेसी बाबा प्रमोद कृष्णम की चुनौती थी, लेकिन राजनाथ सिंह को इन चुनौतियों का कोई विशेष फर्क नहीं पड़ा.

लखनऊ सीट पर सबसे ज्यादा निगाहें कांग्रेसी बाबा आचार्य प्रमोद कृष्णम पर टिकी थी, जो कह रहे थे नहीं है जो मुहम्मद का, हमारा हो नहीं सकता, जो बुरी तरह हारे बमुश्किल अपनी जमानत बचा पाए.

लखनऊ में राजनाथ सिंह को 633026 वोट मिले, महागठबंधन की पूनम सिन्हा को 285724 मिले, वहीं कांग्रेस के प्रमोद कृष्णम को महज 180011 वोटों से संतोष करना पड़ा.

अदब और तहजीब की नगरी में मोहब्बत का पैगाम लेकर आए कांग्रेस प्रत्याशी आचार्य प्रमोद कृष्णम का जादू भी वोटरों पर नहीं चला। मनकामेश्वर मंदिर में दर्शन करने के बाद जब उन्हें रुझान की जानकारी हुई तो उन्हें हार-जीत का अंदाजा हो गया। शायद यही वजह है कि कांग्रेस के पदाधिकारी मतगणना स्थल पहुंचे, लेकिन आचार्य वहां का हाल जानने नहीं गए। पहले ही राउंड से तीसरे पायदान पर रहे आचार्य प्रमोद आखिरी तक दूसरे नंबर पर भी नहीं आ सके।