मोदी सरकार से भिड़कर केंद्र और राज्य दोनों सरकारे गँवा बैठे चंद्रबाबू नायडू

LIKE फेसबुक पेज
chandrababu-naidu-loses-loksabha-and-assembly-election

नई दिल्ली, 24 मई: लोकसभा चुनाव की गिनती ख़त्म हो चुकी है और बीजेपी नें एक बार फिर से लगभग 300 सीटें हासिल कर अपनी बादशाहत कायम रखी है, जबकि इस चुनाव में सबसे ज्यादा नुकसान आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को हुआ है.

बता दें कि चंद्रबाबू नायडू आंध्रप्रदेश का मुख्यमंत्री होनें के साथ-साथ पहले NDA के सहयोगी भी थी, लेकिन उनको लालच ज्यादा आ गयी और वो NDA का साथ छोड़कर महामिलावटी गैंग में शामिल हो गए.

इसी वजह से चंद्रबाबू नायडू विपक्षी दलों में एकता कायम करने को पूरे देश का दौरा करते रहे लेकिन उनकी अपनी तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) को विधान सभा चुनावों में बुरी तरह से शिकस्त झेलनी पड़ी है। जबकि राज्य की 25 सीटों में से केवल 3 सीटे ही उसके हिस्से में आई हैं। जबकि वाईएसआर कांग्रेस को 22 मिली हैं। इसके पीछे दो मुख्य कारण हैं – चंद्रबाबू का अहंकार और उनके प्रतिद्वंद्वी जगन मोहन रेड्डी की मेहनत।

इसके अलावा 175-सदस्यों वाली राज्य विधानसभा में पिछले पांच साल से सत्ता में काबिज तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) महज 25 सीटें जीत पाई है, जबकि वाईएसआर कांग्रेस 149 सीटे जीतकर पहली बार सरकार बनाएगी।