साध्वी प्रज्ञा को दिग्विजय सिंह ने फंसाया था, अब सुप्रीम कोर्ट ने क्लीन चिट दे दी है: शाहनवाज

LIKE फेसबुक पेज
shahnavaz-hussain-gave-statement-sadhvi-pragya-singh-digvijay-singh

भोपाल, 17 अप्रैल: साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने बुधवार को बीजेपी का दामन थाम लिया, बीजेपी ज्वाइन करते ही साध्वी प्रज्ञा को पार्टी ने प्रज्ञा को भोपाल लोकसभा सीट से मैदान में भी उतार दिया.

भोपाल लोकसभा सीट से साध्वी प्रज्ञा का सीधा मुकाबला कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह से होगा, साध्वी ने इसे धर्म की लड़ाई बताया है, वहीँ दिग्विजय ने कहा कि मैं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का भोपाल में स्वागत करता हूँ.

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को लेकर बीजेपी के वरिष्ठ नेता शाहनवाज हुसैन ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि साध्वी प्रज्ञा को दिग्विजय सिंह ने फंसाया था लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने क्लीन चित दे दी है.

कौन हैं साध्वी प्रज्ञा

साध्वी प्रज्ञा का शुरुआती जीवन मध्य प्रदेश के चंबल से जुड़ा रहा है। वे चंबल के भिंड इलाके में पली बढ़ीं हैं। साध्वी के पिता आरएसएस के स्वयंसेवक के साथ ही आयुर्वेदिक डॉक्टर थे। आरएसएस की ओर उनका झुकाव बचपन से ही रहा है। साध्वी प्रज्ञा आरएसएस की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की सक्रिय सदस्य रहीं हैं।

मालेगांव ब्‍लास्‍ट में नाम आने से उनकी जिंदगी पूरी तरह बदल गई। बम धमाके में आरोप लगने पर साध्वी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 29 सितंबर 2008 को महाराष्‍ट्र के मालेगांव में हुए बम धमाकों में सात लोगों की जान चली गई थी। इस बम धमाके में 100 से ज्‍यादा लोग जख्मी हुए थे। फिलहाल साध्‍वी प्रज्ञा जमानत पर चल रही है.