पंडित नवीन जयहिंद के विशाल रोड-शो से उड़ी विरोधियों की नींद, सबसे पढ़े लिखे होने का मिलेगा लाभ

LIKE फेसबुक पेज
pandit-naveen-jaihind-road-show-in-faridabad-news

फरीदाबाद: आम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष और फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र के AAP-JJP के संयुक्त उम्मीदवार पंडित नवीन जयहिन्द के विशाल रोडशो से विरोधियों की नींद उड़ गयी है. करीब 12 किलोमीटर लम्बे रोडशो का नेतृत्व अरविन्द केजरीवाल और दुष्यंत चौटाला ने किया, दोनों नेताओं को देखने के लिए लोग सड़कों पर उतर आये जिसकी वजह से अन्य उम्मीदवारों की नींद उड़ गयी है.

नवीन जयहिन्द ने भाजपा उम्मीदवार कृष्णपाल गुर्जर को कड़ी टक्कर देने की तैयारी कर ली है, नवीन जयहिन्द को सबसे पढ़े लिखे होने का लाभ भी मिल सकता है, वह PhD होल्डर हैं, उनकी योग्यता को देखकर ही दुष्यंत चौटाला ने उन्हें सबसे पढ़ा लिखा उम्मीदवार बताया और उन्हें वोट देने की अपील की. वैसे अगर फरीदाबाद की जनता ने अगर उम्मीदवारों को क्वालिफिकेशन के आधार पर वोट दिया तो नवीन जयहिन्द बाजी मार सकते हैं. अब देखना है कि दुष्यंत चौटाला की अपील कितने लोगों तक पहुँचती है, वैसे ग्रामीण इलाकों में दुष्यंत चौटाला काफी लोकप्रिय हैं.

देखिये टॉप उम्मीदवारों की क्वालिफिकेशन

नाम क्वालिफिकेशन
नवीन जयहिन्दPh.D. MMC (Journalism), M.P.ED, B.P.Ed, PG Diploma in Yoga
कृष्णपाल गुर्जर LLB, Graduation
महेंद्र सिंह चौहान
10th
मानधीर सिंह मान11th
अवतार सिंह भडाना8th

उपरोक्त टेबल में आपने देखा, नवीन जयहिन्द ज्ञान और शिक्षा के मामले में वाकई में पंडित हैं. वह सबसे पढ़े लिखे उम्मीदवार हैं. उनकी तुलना में कृष्णपाल गुर्जर लॉ ग्रेजुएट हैं, अवतार भड़ाना आठवीं पास हैं, मानधीर मान 11वीं पास हैं, जबकि इनेलो के महेंद्र सिंह चौहान 10वीं पास हैं.

नवीन जयहिन्द का प्रोफाइल/बायोडाटा

Column 1         Column 2
नामनवीन जयहिन्द
पिता का नाम धर्म प्रकाश
जन्मस्थानभैंसरू कलां, रोहतक
जन्मतिथि1 जून 1981
शिक्षाPh.D. MMC (Journalism), M.P.ED, B.P.Ed, PG Diploma in Yoga
ईमेल आईडीnaveenjaihind@gmail.com
मोबाइल नंबर
9812265050


नवीन जयहिन्द का परिचय

नवीन जयहिन्द का जन्म 1 जून 1981 को रोहतक जिले के भैंसरु कलां में एक बिलकुल सामान्य परिवार में हुआ. वह बचपन से ही शहीदे-आजम भगत सिह असफाखउल्ला खान, चन्द्रशेखर आजाद और नेता जी सुभाष चन्द्र बोस के जीवन से अत्यधिक प्रभावित रहे और उनके विचारों से उन्होंने अपने नाम के पीछे जयहिन्द लिख कर सन्देश दिया की जात-पात से पहले मेरा देश है.

नवीन जयहिन्द ने पहला आंदोलन तब किया था जब वो कक्षा 10 में पढ़ते थे. वर्ष 2006 – 2007 में महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के सहपाठी ने जयहिन्द मोर्चे का गठन करवाया और छात्र राजनीति की शुरुआत की और NCC, NSS की तर्ज पर ब्लड डोनेशन कैम्प लगाकर लगभग 6000 यूनिट से ज्यादा ब्लड इकठ्ठा किया और उसे रेड क्रॉस के माध्यम से विभिन्न मेडिकल कॉलेज को दिलवाया, इसके अलावा हरियाणा विश्वविद्यालय में रक्त दान पत्र के साथ एडमिशन में एक्स्ट्रा वेटेज के लिए पॉलिसी बनवाने में मुख्य भूमिका निभाई और महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक में जयहिन्द मोर्चा आज भी काम कर रहा है.

उनकी शिक्षणिक योग्यता की बात की जाए तो नवीन जयहिन्द ने Ph.D (Doctor of Philosophy) है. राजनीति के साथ-साथ नवीन जयहिन्द की खेलों में भी बहुत रूचि है. जयहिन्द ने नेशनल लेवल पर कई बार यूनिवर्सिटी के प्रतिनिधि के रूप में भाग लिया.

राजनीतिक में प्रवेश की वजह

शिक्षा ग्रहण करते वक्त उन्होंने महसूस किया कि सरकार में बहुप्रचलित भ्रष्टाचार के कारण प्रकिया में पारदर्शिता की कमी है इसलिए उन्हें छात्र राजनीति छोड़ कर देश की सेवा करनी चाहिए. उधर दिल्ली में अरविन्द केजरीवाल ने भी भ्रष्टाचार के विरुद युद्ध छेड़ रखा था. अरविन्द भी नवीन जयहिन्द के संघर्ष को देखकर काफी प्रभावित हुए, इसके बाद नवीन जयहिन्द ने अरविन्द केजरीवाल के साथ सम्पूर्ण भारत में आरटीआई के क्षेत्र और “स्वराज अभियान” में 2007 से अरविन्द केजरीवाल के साथ काम किया.

5 अप्रैल 2011 को नवीन जयहिन्द ने समाजसेवी अन्ना हजारे के सानिध्य में हुए जनलोकपाल आन्दोलन में पूर्ण रूप से समर्पित हो कर संघर्ष किया और अन्ना आन्दोलन की 20 सदस्यी कमेटी का हिस्सा बने. इसके बाद जयहिन्द अन्ना हजारे और अरविन्द केजरीवाल के साथ तिहाड़ जेल में भी बंद रहे लेकिन जनसत्ता और भ्रष्टाचार के नशे में चूर सरकार ने देश के करोड़ो लोगो की भावनाओ का सम्मान नहीं किया तब अरविन्द केजरीवाल ने सभी क्रांतिकारी लोगो को देश की सक्रीय राजनीति में कदम रखने का विकल्प दिया और फिर अरविन्द केजरीवाल जी के साथ 26 नवम्बर 2012 को आम आदमी पार्टी की स्थापना की और नवीन जयहिन्द जी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बने.

देश के बेटी निर्भया के साथ बलात्कार जैसे घिनौने जुर्म के खिलाफ सख्त कानून की आवाज उठाने पर पुलिस की लाठियां खाने की बात हो या सड़क पर भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष करने की बात हो नवीन जयहिन्द हमेशा से ही आगे रहे है. आम आदमी पार्टी द्वारा नवीन जयहिन्द के कामो से प्रभावित होकर आम आदमी पार्टी हरियाणा प्रदेश का अध्यक्ष नियुक्त किया. नियुक्ति के बाद नवीन जयहिन्द ने समाज में राजनेताओ द्वारा घोले गए जातिवाद के जहर को मिटाने के लिए “मेरी जाति हिन्दुस्तानी मुहीम” को तपती गर्मी में प्रदेश के प्रत्येक जिले में चलाया , इसके बाद प्रदेश में जनता के मुद्दों को प्रशासन,सडको से लेकर हरियाणा विधानसभा चंडीगढ़ में घेराव कर भ्रष्ट नेताओ के कानो गुंज करवाई. वतर्मान में पुरे प्रदेश में विपक्ष होते हुए भी आम आदमी पार्टी हरियाणा में बिना किसी विधायक विपक्ष भूमिका निभा रहे है.