चुनाव आयोग को जेल भेजने की धमकी देने वाले प्रकाश आंबेडकर के खिलाफ EC ने दर्ज कराई FIR

election-commission-lodged-fir-against-prakash-ambedkar

नई दिल्ली, 4 अप्रैल: चुनाव आयोग को जेल भेजने की धमकी देने वाले दलित नेता प्रकाश आंबेडकर के खिलाफ चुनाव आयोग ने FIR दर्ज करा दी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रकाश आंबेडकर ने आरोप लगाया था कि चुनाव आयोग भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सहयोगी के रूप में काम कर रहा है।

महाराष्ट्र के यवतमाल जिले की रैली में आंबेडकर के इस बयान पर संज्ञान लेते हुए राज्य चुनाव आयोग ने स्थानीय चुनाव अधिकारियों से मामले पर रिपोर्ट तलब की है। आंबेडकर ने गुरुवार को एक रैली में कहा था, ‘हमने अपने 40 जवान खो दिए (पुलवामा हमले में) लेकिन फिर भी चुप हैं। हमें कहा गया है कि पुलवामा हमले पर बात ना की जाए। चुनाव आयोग हमें चुप कैसे करा सकता है? हमारे संविधान में हमें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता दी गई है। मैं भाजपाई नहीं हूं। अगर मैं सत्ता में आया तो चुनाव आयोग को दो दिन के लिए जेल भेजूंगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रकाश आंबेडकर तीन बार सांसद भी रह चुके हैं और वंचित बहुजन आघाड़ी (वीबीए) के अध्यक्ष भी हैं, इसके अलावा प्रकाश आंबेडकर इस बार वंचित बहुजन आघाडी’ (वीबीए) की टिकट पर महाराष्ट्र की सोलापुर और अकोला लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। वह डॉक्टर भीमराव आंबेडकर के प्रपौत्र हैं

loading...