कांग्रेस में भी शत्रुघ्न सिन्हा का दोगलापन शुरू, बिहार में कांग्रेस के साथ, यूपी में खिलाफ

LIKE फेसबुक पेज
congress-leader-shatrughan-sinha-doglapan-in-bihar-and-lucknow-news-hindi

फरीदाबाद: शत्रुघ्न सिन्हा जहाँ भी रहते हैं अपना दोगला चरित्र जरूर दिखाते हैं, उनका नाम भले ही शत्रुघ्न हो लेकिन वे अपनी ही पार्टी से शत्रुता निभाते हैं. जब वे भाजपा में थे और भाजपा सरकार ने उन्हें मंत्री नहीं बनाया तो लाल कृष्ण आडवानी की तारीफ और मोदी की बुराई करने लगे, अगर उन्हें मंत्री बना दिया जाता तो सभी नेता अच्छे हो जाते और मोदी भी उनकी नजर में महान हो जाते लेकिन मंत्री ना बनाए जाने से वह पार्टी का विरोध करने लगे और कांग्रेस में शामिल हो गए.

अब वह कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए हैं तो वहां भी दोगला चरित्र दिखा रहे हैं. पटना साहिब से वह कांग्रेस पार्टी से खुद खड़े हुए हैं और वहां पर कांग्रेस पार्टी को जिताने और राहुल गाँधी को प्रधानमंत्री बनाने की अपील कर रहे हैं.

लखनऊ में उनकी पत्नी समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ रही हैं तो शत्रुघ्न सिन्हा सपा को जिताने और कांग्रेस को हराने की अपील कर रहे हैं, मतलब एक ही देश में एक जगह कांग्रेस को जिताने और दूसरी जगह कांग्रेस को हराने की अपील कर रहे हैं. शत्रुघ्न सिन्हा का दोगलापन देखकर लखनऊ में कांग्रेस के उम्मीदवार आचार्य प्रमोद कृष्णन बहुत नाराज हैं, कई अन्य नेता भी नाराज हैं.

जब शत्रुघ्न सिन्हा से इसको लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मेरे लिए परिवार पहले है और पार्टी बाद में. शत्रुघ्न सिन्हा लखनऊ में घुमते हैं तो अखिलेश यादव को प्रधानमंत्री बनाने की अपील करते हैं लेकिन जब वह पटना में होते हैं तो राहुल गाँधी को प्रधानमंत्री बनाने की अपील करते हैं जबकि लखनऊ में कांग्रेस और सपा एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं.