बनारस के चुनावी मैदान में हार के डर से मैदान छोड़कर भागे भीम आर्मी के चंद्रशेखर रावण

LIKE फेसबुक पेज
bhim-army-chandrashekhar-ravan-not-fight-election

बनारस, 18 अप्रैल: वाराणसी लोकसभा सीट से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा करने वाले भीम आर्मी के चंद्रशेखर रावण अब एक महीने बाद मैदान छोड़कर भागने का एलान किया है.

भीम आर्मी के प्रमुख चन्द्रशेखर आजाद ने बुधवार को अपने फैसले से पलटते हुए कहा कि भाजपा को हराने के लिए दलित वोट संगठित रहना चाहिए और उनका संगठन सपा-बसपा गठबंधन का समर्थन करेगा. गौरतलब है कि चन्द्रशेखर के इस यू-टर्न से कुछ ही दिन पहले बसपा की प्रमुख मायावती ने उन्हें भाजपा का एजेंट बताते हुए उन पर दलित वोट बांटने का आरोप लगाया था.

रावण ने कहा कि यदि सपा-बसपा गठबंधन सतीश चन्द्र मिश्रा को वाराणसी सीट से टिकट देती है तो भीम आर्मी गठबंधन का समर्थन करेगी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भीम आर्मी के चंद्रशेखर रावण ने जोश में आकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का एलान किया था, लेकिन एक महीने बीतते-बीतते जैसे ही उन्हें अपने हार के डर का एहसास हुआ तो तो उन्होंने जैसे चुनाव लड़ने का एलान किया था ठीक वैसे ही मैदान छोड़कर भागने का भी एलान किया.