एक हप्ते से कांग्रेसियों ने ऐसे मुंह लटका रखा है जैसे इनके ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा हो: मोदी

LIKE फेसबुक पेज
pm-narendra-modi-slams-congress-for-air-strike-pakistan

धार: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज मध्य प्रदेश के धार जिले में एक जनसभा को संबोधित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेसियों पर हमला बोलते हुए कहा कि एक हप्ते से कांग्रेसियों ने ऐसे मुंह लटका रखा है जैसे इनके ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा हो.

उन्होंने एयर स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा कि आतंकियों को सजा देना अब जरूरी हो गया है, हम हाथ पर हाथ धरे नहीं बैठे रह सकते, आतंकवादियों को उनके पास की सजा भुगतनी ही पड़ेगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि एयर स्ट्राइक पाकिस्तान में हुआ है लेकिन सदमा भारत में बैठे कुछ लोगों को लगा है, ये लोग एयर स्ट्राइक के सबूत मांगकर पाकिस्तान की मदद कर रहे हैं, एक कांग्रेसी नेता (दिग्विजय सिंह) ने तो पुलवामा आतंकी हमले को दुर्घटना बता दिया, आप लोग इनके बयानों से समझ सकते हैं कि ये किस मानसिकता के लोग हैं.

मोदी ने कहा कि विपक्ष के नेताओं के चेहरे देखिये, ये लोग पिछले एक हप्ते से ऐसे मुंह लटकाए हुए हैं, मानों दुखों का पहाड़ टूट पडा हो. भारत भर में महामिलावट करने वाले लोग अब अंतर्राष्ट्रीय महामिलावट करने में लगे हैं, सिर्फ अपने राजनीतिक लाभ के लिए पाकिस्तान के साथ मिलकर महामिलावट कर रहे हैं. यहाँ ये लोग मोदी को गाली देते हैं और वहां पाकिस्तान में इनके लिए तालियाँ बजती हैं, वहां के अखबारों में इनके बयानों से हेडलाइन भरी पड़ी हैं, वहां के टीवी चैनलों पर इनके ही चेहरे दिखाई पड़ते हैं, आजकल ये महामिलावटी लोग पाकिस्तान के पोस्टरबॉय बन गए हैं.

मोदी ने कहा कि जब पाकिस्तान विश्व में अलग थलग पड़ गया तो उसकी मदद के लिए यही मिलावटी लोग सामने आ गए, कोई सबूत मांगने लगा तो कोई आतंकियों की संख्या पूछने लगा, और तो और, ये लोग पाकिस्तान को ही शान्ति का दूत बताने लगे, आपने देखा होगा कि अंतर्राष्ट्रीय महामिलावट एक सुर में राग अलाप रही है, एक तरफ देशभर में देश को प्यार करने वाले लोग एक हो रहे हैं तो दूसरी तरफ मोदी की नफरत में सारे मिलावटी लोग चूं चूं चूं चूं कर रहे हैं.

मोदी ने कहा कि आज पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ कार्यवाही की मांग कर रहा है, पूरा विश्व हमारी सेना की ताकत की तारीफ कर रहा है लेकिन विपक्षी पार्टियों के लोग सेना से एयर स्ट्राइक के सबूत मांगकर सेना के मनोबल को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं. आज जब पूरा विश्व भारत के साथ खड़ा है तो ये लोग अलग अलग प्रश्न पूछकर भारत को कमजोर कर रहे हैं.