मोहन भागवत बोले- मदरसों में पढ़ाया जाना चाहिए भारतीयता का पाठ, पढ़ें क्यों

LIKE फेसबुक पेज
mohan-bhagvat-rss-told-lessons-of-indianism-should-be-taught-in-the-madrasa

देहरादून, 7 फ़रवरी: देहरादून में आयोजित चार दिवसीय प्रवास कार्यक्रम पर रिटायर्ड अधिकारियों से बुधवार को संवाद करते हुए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने मदरसों को लेकर बड़ा बयान दिया.

मोहन भागवत ने कहा- मदरसों में भारतीयता का पाठ पढ़ाया जाना चाहिए जोकि धर्मों के बीच कोई भेदभाव नहीं करता और शांति की बात कहता है.

इसके अलावा मोहन भागवत ने कहा, भगवान राम और गो माता हिंदू संस्‍कृति का आधार हैं, हर भारतीय को यह समझना चाहिए कि अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण मूल स्‍थान पर ही होना चाहिए. उन्‍होंने कहा, हम राम के प्रति श्रद्धा रखते हैं. गो माता और राम हिंदू संस्‍कृति का आधार हैं. हर भारतीय को यह समझना चाहिए कि अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण मूल स्‍थान पर ही होगा. यदि ऐसा होता है तो हिंदुत्‍व की पहचान पूरे विश्‍व में स्‍थापित हो जाएगी.