परीक्षा चर्चा मे बोले मोदी- निराशा में डूबा समाज, परिवार या व्यक्ति किसी का भला नहीं कर सकता है

LIKE फेसबुक पेज
pm-modi-pariksha-pe-charcha-2-0

नई दिल्ली, 29 जनवरी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ‘परीक्षा पे चर्चा 2.0’ कार्यक्रम के माध्यम से देशभर के विद्यार्थियों के साथ-साथ साथ इस बार अभिभावकों और शिक्षकों से भी बातचीत कर रहे हैं.

पीएम मोदी से देशभर के तमाम बच्चे हर प्रकार का, हर क्षेत्र से जुड़े सवाल पूछ रहे हैं, जिसका पीएम मोदी बहुत ही सरलतम तरीके से जवाब दे रहे हैं.

पीएम मोदी ने परीक्षा के टाइम में छात्रो को तनाव मुक्त रहने की सलाह देते हुए कहा- आप अपने रिकॉर्ड से ‘कॉम्पिटिशन’ कीजिए और हमेशा अपने रिकॉर्ड ब्रेक कीजिए। इससे आप कभी निराश नहीं होंगे और तनाव में नहीं रहेंगे.

इसके अलावा पीएम मोदी ने छात्रों के माँ-बाप को भी गुरुमंत्र दिया, पीएम ने कहा, मां-बाप और शिक्षकों को बच्चों की तुलना नहीं करना चाहिए, इससे बच्चों पर बुरा प्रभाव पड़ता है। हमें हमेशा बच्चों को प्रोत्साहित करना चाहिए, बच्चों का हौसला बढ़ाना चाहिए. जबकि निराशा में डूबा समाज, परिवार या व्यक्ति किसी का भला नहीं कर सकता है, आशा और अपेक्षा जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए जरूरी है.

LEAVE A REPLY