कुवैत से बहुत ही मुश्किल से आये भारतीयों ने कहा, अल-हैथम में कभी न करें नौकरी, वरना गए काम से

LIKE फेसबुक पेज
kuwait-al-haitham-restraurant-grills-bad-experience-12-indian-share

नई दिल्ली: कुछ भारतीय अधिक पैसे कमाने के लालच में खाड़ी देशों में नौकरी करने चले जाते हैं, वहां स्थित बड़े बड़े होटलों में लोग नौकरी करते हैं, वहां पर भारत से थोडा अधिक सैलरी तो मिलती है लेकिन जिंदगी को बहुत रिश्क होता है, कई भारतीय वहां से लौट नहीं पाते, कई लोगों का वीजा रोक दिया जाता है, कई भारतीयों का वीजा कंपनी के ही लोग दबाकर बैठ जाते हैं और उन्हें जीवन भर के लिए गुलाम बना लेते हैं.

ऐसा ही एक मामला अल-हैथम रेस्टोरेंट से आया है जहाँ पर 11 भारतीय नौकरी करने के लिए गए थे, इनमें से करीब 7 लोग बहुत ही मुश्किल से घर लौटे हैं लेकिन 4 लोग अभी भी फंसे हैं, होटल मालिक वीजा देने में आनाकानी कर रहा है. इससे पहले 12 लोग फंसे थे, हमारे पास उन्होंने अपनी समस्या भेजी लेकिन वे डर भी रहे थे कि अगर होटल मालिक को इस बारे में पता चल गया तो वीजा मिलने में और मुश्किल हो जाएगी. इसके बाद भारतीय दूतावास में शिकायत भेजी गयी तो किसी तरह से 7 लोगों को वीजा मिला, 7 लोग वहां से वापस आ चुके हैं, 4 अभी फंसे हुए हैं.

वापस लौटे भारतीयों में बबलू सिंह उत्तराखंड के हैं. उन्होंने हमसे बताया कि आप पूरे भारत में यह जानकारी दे दो, अल-हैथम रेस्टोरेंट में नौकरी करने से पहले 100 बार सोच लें, वहां पर नौकरी करना खतरे से खाली नहीं है, 2 महीनें की सैलरी रोक ली जाती है, वीजा रोक लिया जाता है, छुट्टियाँ नहीं मिलती, बंधुवा मजदूरों की तरह से काम करवाया जाता है. स्टाफ के लोग बत्तमीजी से बात करते हैं. बहुत ही घटिया व्यवहार किया जाता है.

बबलू ने बताया कि गूगल में सर्च करने पर इस होटल के बारे में बहुत ही पॉजिटिव VIEWS दिखाई देते हैं जबकि यहाँ का मैनेजमेंट बहुत ही बुरा है, इस कंपनी में HR डिपार्टमेंट है ही नहीं.

बबलू ने बताया कि ये लोग 2 महीनें की सैलरी एडवांस में होल्ड कर लेते हैं, साप्ताहिक आवकाश नहीं देते, साल में भी कोई छुट्टी नहीं देते, यही नहीं 3 साल लगातार काम करने के बाद भी ये लोग कोई छुट्टी देने को राजी नहीं थे, यहाँ तक कि परिवार के किसी सदस्य की मौत पर भी ये छुट्टी नहीं देते, इसके अलावा ओवर-टाइम का कोई पैसा नहीं मिलता.

बबलू ने बताया कि भारतीय दूतावास भी इस कंपनी के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लेता इसलिए मैं सभी भारतीयों को सलाह देना चाहता हूँ कि अपनी जिंदगी की रक्षा खुद करें और इस होटल के चक्कर में ना फंसे.

al-haitham-restaurant-kuwait

जब 12 भारतीय इस होटल में फंस गए थे तो इन्होने भारतीय दूतावास में अपनी जान बचाने की गुहार लगाई. दूतावास में एक पत्र भेजा गया जिसे हम नीचे दे रहे हैं –

complaint-against-al-haitham-restaurant

इस होटल में 11 भारतीय फंसे थे जिसमें से निम्नलिखित 7 वापस लौट चुके हैं और 4 अभी भी फंसे हुए हैं –

  1. बबलू कुमार चंद्रपाल सिंह
  2. दिनेश कुमार सुरेन्द्र सिंह
  3. कमल सिंह शिव सिंह
  4. राजबीर सिंह
  5. सुरिंदर सिंह दलीप सिंह
  6. विजय उम्मेद सिंह
  7. अब्दुल रहीम अब्दुल एजाज

अभी भी 4 फंसे भारतीय

  1. महिपाल सिंह वीर सिंह
  2. बलवीर सिंह राणा
  3. संदीप सिंह पुंडीर
  4. त्रिलोक शूरवीर सिंह

इन भारतीयों ने नीचे फोटो में दिख रहे स्टाफ के व्यवहार से बहुत ही असंतुष्टि दिखाई. ये लोग बहुत ही बत्तमीजी से बात करते हैं और भारतीयों से बहुत ही बुरा व्यवहार करते है.

kuwait-al-haitham-restaurant-staff

1 COMMENT

LEAVE A REPLY