भारतीयों को भुलक्कड समझती है AAP, JNU में देशद्रोही नारों से ही इनकार कर रहे हैं इनके नेता

LIKE फेसबुक पेज
aap-party-supporting-jnu-case-acuused-kanhaiya-kumar-umar-khalid

नई दिल्ली, 20 जनवरी: वर्ष 2016 में पूरे देश ने JNU में देशद्रोही नारे लगाते हुए देखे थे, JNU के कुछ छात्र भारत तेरे टुकड़े होंगे, छीन के लेंगें आजादी, अफजल हम शर्मिंदा हैं, तेरे कातिल जिन्दा है, अफजल तेरे अरमानों को हम मंजिल तक पहुंचायेंगें, रगड़ा-रगड़ा दे रगड़ा, भारत को रगड़ा दे रगड़ा, जैसे देशद्रोही नारे लगा रहे थे.

ये वीडियो पूरे देश के लोगों ने देखा था, लेकिन आप पार्टी की माने तो देशद्रोही नारे लगे ही नहीं थे, इस मामले में दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज करके आरोपियों को गिरफ्तार किया था, कन्हैया कुमार, उमर खालिद और कुछ अन्य छात्रों को जेल में भेजा गया था, 3 साल बाद पूरी जांच करके दिल्ली पुलिस ने इस मामलें में 1200 पन्नों चार्जशीट तैयार की है, लेकिन दिल्ली सरकार ने चार्जशीट पर हस्ताक्षर नहीं किये हैं.

अब इस मामलें में टीवी डिबेट हो रही है, जिसमें आप नेता और प्रवक्ता साफ़-साफ़ कह रहे हैं कि JNU में देशद्रोही नारे लगे ही नहीं, वीडियो झूठा है, और कन्हैया कुमार, उमर खालिद सीधे-साधे और ईमानदार छात्र हैं.

वैसे अरविन्द केजरीवाल खुद ही कन्हैया कुमार, उमर खालिद जैसे देशद्रोह के आरोपियों के साथ हमदर्दी रखते हैं, कई बार केजरीवाल ने इनके साथ फोटो खिंचवाई है और मंच भी साझा किया है. इसलिए आप पार्टी JNU में देशद्रोह के आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है, इसके अलावा आप पार्टी भारतीयों को भुलक्कड भी समझती है, उन्हें पता है, भारत के लोग एक-दो साल में सब कुछ भूल जाते हैं, ये लोग JNU काण्ड को भी भूल गए होंगें, हमें फिर से वोट मिल जाएगा और हमारी सरकार बन जायेगी, अब देखना है भारतीय सच में भुलक्कड हैं, या उन्हें JNU काण्ड की याद ताजा है, अगर भारतीय भुलक्कड न निकले तो आने वाले चुनाव में केजरीवाल को नुकसान होगा.

LEAVE A REPLY