रोहिंग्या प्रेमी प्रशांत भूषण को सुप्रीम कोर्ट ने दिया बड़ा झटका, 7 रोहिंग्या को देश छोड़ने का आदेश

supreme-court-oreder-7-rohingya-do-depart-from-india

नई दिल्ली, 4 अक्टूबर: असम में अवैध तरीके से रह रहे 7 रोहिंग्या मुसलमानों पर सुप्रीम कोर्ट ने आज बड़ा फैसला सुनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण की ओर से रोहिंग्या को भारत में रहने देने के लिए डाली गई याचिका को खारिज कर दिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए कहा है कि केंद्र सरकार के पास पूरे दस्‍तावेज मौजूद हैं, जिससे पता चलता है कि सातों रोहिंग्‍या म्‍यांमार के हैं और उन्‍हें वहां भेजा जाना चाहिए.

जानकारी के अनुसार ये सातों रोहिंग्या मुस्लमान 2012 में अवैध तरीके से भारत में घुस आये थे, जिसेक बाद इन्हें गिरफ्तार करके असम के सिलचर जिले के कचार केन्द्रीय कारागार में बंद किया गया था. सातों रोहिंग्या मुसलमानों को आज म्यामार वापस भेजा जाएगा, म्यामार सरकार उनको लेने को राजी हो गयी है.

सुप्रीम कोर्ट ने ये फैसला सुनाकर रोहिंग्या प्रेमी वकील प्रशांत भूषण को बड़ा झटका दिया है, वह भारत को रोहिंग्याओं और अवैध बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए धर्मशाला बनाना चाहते हैं. लेकिन उनका मकसद कामयाब होता नहीं दिख रहा है.