महबूबा का हाथ आतंकियों के साथ, बोली, AMU में शोकसभा करने वाले छात्रों से हटाया जाय देशद्रोह केस

LIKE फेसबुक पेज
mehbooba-mufti--says-suspended-case-students-of-amu-for-mannan-vani-support

जम्मू कश्मीर, 16 अक्टूबर: जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती कुपवाड़ा में मारे गए आतंकवादी मन्नान वानी के खुलेआम समर्थन में उतर आई हैं.

महबूबा मुफ्ती मन्नान वानी को कश्मीर में जारी हिंसा का पीड़ित बताया है, उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के उन छात्रों पर से केस वापस लेने की मांग की, जिनपर देशद्रोह के मुकदमे दर्ज किए गए हैं.

महबूबा मुफ्ती ने ट्विटर पर लिखा- छात्रों पर इतना दबाव बनाना उल्टा पड़ सकता है, केंद्र को मामले में हस्तक्षेप करके मुकदमे वापस करवाने चाहिए और एएमयू प्रशासन को चाहिए कि वह छात्रों के निलंबन को वापस लें, राज्य सरकार को भी स्थिति के बारे में संवेदनशील होना चाहिए और अलगाव को रोकना चाहिए, अगर छात्रों को अपने पूर्व साथी छात्र जो कश्मीर में निर्मम हत्या का शिकार था, को याद करने के लिए सजा मिलती है तो यह एक अजीब नाटक की तरह होगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि AMU से पीएचडी करके आतंकवादी बने मन्नान वानी को 11 अक्तूबर को सेना ने नरक लोक पहुंचा दिया, मन्नान मानी के मारे जाने के बाद AMU में करीब 150 छात्रों ने जनाजे-ए-नवाजा करने की कोशिश की और देशविरोधी नारे लगाये.

इस मामले में AMU प्रसाशन ने 2 पीएचडी छात्रों के ऊपर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है, जबकि 7 छात्रों की पहचान की जा रही है.

LEAVE A REPLY